चेहरे पर दाने, पीठ पर घमौरियां और पसीने की बदबू: लड़कियां कैसे निपटें गर्मियों से

गर्मियों में खाल को बहुत बचाकर रखना चाहिए.

सरवत फ़ातिमा सरवत फ़ातिमा
अप्रैल 10, 2019
सांकेतिक तस्वीर. (फ़ोटो कर्टसी: ट्विटर)

वंदना ऑफिस जाने के लिए तैयार हो रही थी. मुंह धोने के लिए शीशे में देखा तो चेहरे पर छोटे-छोटे दाने हो रखे थे. ये हर बार का नाटक था. जब भी गर्मियां शुरू होती, उसके चेहरे पर पिम्पल्स निकलने लगते. खैर. जैसे-तैसे तैयार होकर बाहर निकली. बस स्टैंड दो-तीन मिनट की दूरी पर था. चलकर जा रही थी. गर्मी तेज़ थी. पसीना निकलना शुरू हो गया. घुटनों के पीछे और जांघों में खुजली होने लगी. बस स्टेशन तक पहुंचने तक तो खाल छिलने भी लगी. एक, दो दिन बाद वंदना ने देखा की उसकी पीठ पर घमौरियां भी हो रखी हैं. वंदना ने सिर पकड़ लिया. बेचारी वंदना.

पर ये मुसीबतें वंदना की अकेले नहीं हैं. गर्मियों में दाने, घमौरियां, और पसीने से खाल छिलना आम बात है. प्रॉब्लम ये है कि लड़कियां आमतौर पर इन दिक्कतों को इग्नोर कर देती हैं. किसी खाल के डॉक्टर के पास नहीं जातीं. प्रॉब्लम बढ़ती रहती है. हमारा कहना है कि क्यों गर्मी के इतने महीने ये दिक्कतें झेलनी हैं, जब इनका इलाज है.

हमने बात की डॉक्टर अप्रितम गोयल से. वो क्यूटिस स्किन स्टूडियो मुंबई में खाल की डॉक्टर हैं. उन्होंने हमें बताया कि गर्मियों में दाने क्यों ज्यादा निकलते हैं, खाल की दिक्कत क्यों होती है, और उनसे कैसे निपटें.

गर्मी में दाने क्यों निकलते हैं

डॉक्टर गोयल बताती हैं:

“गर्मी में तापमान बढ़ जाता है. इसलिए खाल भी नॉर्मल से ज्यादा ऑयल छोड़ने लगती है. साथ ही पसीना भी निकलता है. दोनों साथ में मिलकर खाल में जो छोटे-छोटे पोर्स होते हैं, उन्हें ब्लॉक कर देते हैं. इससे न सिर्फ़ दाने होते हैं बल्कि एक्ने का भी ख़तरा रहता है. गर्मी में घमौरियां भी बहुत आम हैं. ये पूरे शरीर में हो सकती हैं.”

Image result for summer skin care pimples indian girl

(फ़ोटो कर्टसी: Pixabay)

इनसे कैसे निपटें

परेशानी:

गर्मियों में धूप में ज्यादा समय रहने से खाल जल जाती है और टेनिंग होने लगती है. यानी खाल का जो नेचुरल टोन है वो उससे डार्क होने लगती है.

इलाज:

-दिन में कम से कम दो बार ठंडे पानी से नहाइए. एक सूखे तौलिए से अपनी खाल को सुखाइए. ध्यान रहे कि थोड़ा पानी खाल पर लगा रहने दीजिए. ताकि खाल उसे सोख ले. इसके बाद क्रीम अपने चेहरे और शरीर पर लगाइए.

-अगर खाल जली है तो वहां ऐसी क्रीम लगाइए जिसमें एलोवेरा हो.

-अगर खाल बहुत ज्यादा लाल है, या सूजन है तो एस्पिरिन खा सकती हैं. अगर दिक्कत ज्यादा है तो डॉक्टर को दिखाएं.

-ज़्यादा से ज़्यादा पानी पीजिए.

-टेनिंग से बचने के लिए सनस्क्रीन का इस्तेमाल करें. जिसमें एसपीएफ कम से कम 30 हो. घर से निकलने से 20 मिनट पहले उसे शरीर और चेहरे पर लगाएं.

- टेनिंग हटाने के लिए एक चम्मच मसूर दाल को पानी में मिलाकर उसका पेस्ट बना लीजिए. उसके बाद में एलोवेरा का गूदा और टमाटर का पेस्ट डाल दीजिए. और सबको मिला लीजिए. जहां-जहां टैनिंग है उसे वहां लगाइए और 30 मिनट तक रहने दीजिए. फिर ठंडे पानी से धो दीजिए.

Image result for �म�रिया�

(फ़ोटो कर्टसी: Pixabay)

परेशानी:

गर्मी में घमौरियां होना बहुत आम है. ख़ासतौर पर चेहरे, पीठ, और हाथों पर.

इलाज:

-जहां घमौरियां हो रखी हैं, उतनी खाल को ज़्यादा से ज़्यादा हवा लगने दें. उसे ढककर मत रखिए.

-गर्मियों में सिंथेटिक और टाइट कपड़े अवॉयड करिए जिनसे हवा खाल तक न पहुंचे. क्योंकि पसीने का सूखना ज़रूरी है. अगर पसीना खाल पर लगा रहे और हवा न मिले तो घमौरियां होना आम बात है.

-घर से बाहर निकलने से पहले कुछ ठंडा पीजिए. जैसे पानी, छाछ, जूस, या नारियल पानी. ये शरीर को अन्दर से ठंडा रखेंगे.

-नहाने के बाद खाल पर पावडर ज़रूर छिड़कें.

Image result for summer skin acne

(फ़ोटो कर्टसी: Pixabay)

परेशानी:

गर्मियों में चेहरे और सीने पर दाने निकलने लगते हैं. कभी-कभी ये एक्ने में तब्दील हो जाते हैं.

इलाज:

-हमारी खाल कुछ सेल्स की बनी होती है. गर्मियों में काफ़ी डेड स्किन जमा हो जाती है. यानी ये स्किन सेल्स सूखकर मर जाते हैं. इस वजह से आपके पोर्स भी ब्लॉक हो जाते हैं. पोर्स के ब्लॉक होने का एक ही मतलब है. दाने. इसलिए ज़रूरी है कि एक अच्छे स्क्रब से अपनी खाल को स्क्रब करिए. ये मार्केट में बहुत सस्ते दाम पर मिल जाते हैं. अगर बाहर से नहीं खरीदना तो बेसन में थोड़ा पानी मिलाकर उससे मुंह धोएं.

-मुंह धोने के बाद उसे अच्छे से सुखाएं. इसके बाद टोन करना ज़रूरी है. ताकि खाल के पोर्स बंद हो सकें. इसके लिए आप या तो मार्किट से एक टोनर ख़रीद सकती हैं या तो गुलाब जल का इस्तेमाल कर सकती हैं. गुलाब जल को फ्रिज में ठंडा होने के लिए छोड़ दें. उसके बाद रुई पर थोड़ा सा गुलाब जल लें. और उससे मुंह पोछें.

-सनस्क्रीन का इस्तेमाल ज़रूर करें. पर ध्यान दें सनस्क्रीन में ऑयल न हो. शीशी को पलटकर पढ़ें कि उसमें क्या-क्या मिला हुआ है. देखें कि उसमें पानी इस्तेमाल हुआ हो, तेल नहीं.

-गर्मी में बाहर जाते समय ज्यादा हैवी मेकअप न करें. ये भी आपके पोर्स को बंद कर देता है.

-अपने पास वाइप्स रखें. हर थोड़ी-थोड़ी देर में मुंह पोंछते रहिए.

-पानी ज़रूर ज्यादा से ज़्यादा पीजिए.

Image result for summer sweat problem

(फ़ोटो कर्टसी: Pixabay)

परेशानी:

गर्मियों में पसीना बहुत निकलता है. और उसके साथ आती है पसीने की बदबू. ये एक बड़ी मुसीबत है.

इलाज:

-दिन में कम से कम दो बार नहाइए.

-नहाने के पानी में वाइट विनेगर या गुलाब जल डाल लीजिए.

-नहाने के बाद ख़ुद को अच्छे से सुखाइए.

-सिंथेटिक कपड़े अवॉयड करिए.

-नहाने के लिए कोई एंटी बैक्टीरियल साबुन का इस्तेमाल करिए.

-अगर आपकी खाल सेंसेटिव नहीं है तो जहां बहुत पसीना आता है आप वहां थोड़ा नींबू रगड़ सकती हैं. पर अगर आपकी खाल सेंसेटिव है तो ये हरगिज़ मत करिए. साथ ही आप पानी में भी नींबू की कुछ बूंदे डाल सकती हैं.

पढ़िए: कौन सी है वो बीमारी जिसमें सिर के सारे बाल झड़ जाते हैं?

 

लगातार ऑडनारी खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करे      

Copyright © 2019 Living Media India Limited. For reprint rights: Syndications Today. India Today Group