यौन शोषण 'टाइप' देखकर नहीं होता, मिस्टर डॉनल्ड ट्रंप!

कुछ नहीं, एक और घटिया बहाना जो कई सालों से इस्तेमाल किया जाता रहा है

डॉनल्ड ट्रंप अमेरिका के राष्ट्रपति हैं. महिलाओं के लिए अपने भद्दे बयानों को लेकर अक्सर खबरों में रहते हैं. ट्रंप पर ई ज्यां कैरल नाम की एक महिला ने यौन शोषण का आरोप लगाया है. कैरोल एलए मैग्जीन की कॉलमिस्ट और लेखक हैं. कैरल के मुताबिक, '23 साल पहले मैनहट्टन के एक क्लोदिंग स्टोर के ड्रेसिंग रूम में डॉनल्ड ट्रंप ने अपना प्रायवेट पार्ट मेरे अंदर डाला था.'

हाल ही में ट्रंप ने अमेरिकी अखबार द हिल को इंटरव्यू दिया. यहां उनसे कैरोल आरोपों के बारे में पूछा गया. इस पर उन्होंने कहा, 'कैरोल झूठ बोल रही हैं. पहली बात कि वह मेरे टाइप की नहीं हैं और दूसरी बात कि ऐसा कभी नहीं हुआ. यह कभी नहीं हुआ, ठीक है? मैं उनके बारे में कुछ भी नहीं जानता हूं. यह एक बहुत ही डरावनी बात है कि लोग इस तरह के बयान देते हैं. मैं उसके बारे में कुछ नहीं जानता.'

साल 2016 में राष्ट्रपति चुनाव के पब्लिसिटी कैंपेन में भी एक महिला ने उनपर यौन शोषण का आरोप लगाया था. महिला ने कहा था, 'मैं और ट्रंप एक ही फ्लाइट में थे. इस दौरान ट्रंप ने मेरा यौन शोषण किया था.'

महिला के इन आरोपों पर तब ट्रंप ने कहा था, 'वह महिला मेरी पहली पसंद नहीं थी. उसके फेसबुक पेज पर जाइए, आपको सब खुद ही समझ में आ जाएगा.'

अब कुछ सवाल हैं. क्या होता है 'टाइप'. क्या लड़कियों, महिलाओं और बच्चियों का रेप 'टाइप' देखकर किया जाता है.

निर्भया गैंग रेप केस में वो लड़की 6 दोषियों में से किसके टाइप की थी?

-नेशनल क्राइम रिकॉर्ड ब्यूरो के आंकड़ों के मुताबिक रेप भारत में चौथा सबसे कॉमन क्राइम है.

-साल 2016 में करीब 38947 रेप के मामले दर्ज किए गए थे.

-अमेरिकी रिसर्च डिपार्टमेंट की रिपोर्ट के मुताबिक, अमेरिका में 2016 में 96970 और 2017 में 99856 रेप के मामले रिकॉर्ड हुए.

डॉनल्ड ट्रंप पर यौन शोषण का ये पहला या दूसरा मामला नहीं है. उन पर पिछले 40 सालों में करीब 16 महिलाओं द्वारा रेप और यौन उत्पीड़न के आरोप पर लग चुके हैं. इनमें ज्यादातर आरोप उनके अमेरिका के राष्ट्रपति बनने से पहले के हैं. ट्रंप महिलाओं के लेकर भी कई बार भद्दे बयान दे चुके हैं.

2015 में उन्होंने अमेरिकी राष्ट्रपति बिल क्लिंटन की पत्नी हिलेरी क्लिंटन के राजनीतिक करियर को लेकर कहा था, 'वो जब अपने पति को संतुष्ट नहीं कर पाईं, तो अमेरिकी लोगों को संतुष्ट करने के बारे में कैसे सोच सकती हैं.'

महिलाओं को बदसूरत और कमतर दिखाकर पल्ला झाड़ लेने वाली बात नई नहीं है. अक्सर ताकतवर पुरुष अपने ऊपर लगे यौन उत्पीड़न के आरोपों को ये कहकर नकार देते हैं कि महिला उस लायक ही नहीं है कि वो उसका रेप और शोषण करें. कोई लड़की हैरेसमेंट या यौन शोषण की शिकायत करे तो उसे कहा जाता है, 'शक्ल देखी है अपनी, तुझे कोई क्यों ही छेड़ेगा?'. ट्रंप राष्ट्रपति हैं, अमेरिका के. तो उनके दिमाग की गंदगी ट्विटर पर और बाकी जगहों पर दिख जाती है. बाकियों की नहीं दिखती. अंतर बस इतना है.

ये भी पढ़ें- अधेड़ आदमी बच्ची का यौन शोषण कर रहा था, वीडियो वायरल हुआ, उसे शेयर करने वाले अब खतरे में

 

लगातार ऑडनारी खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करे      

Copyright © 2019 Living Media India Limited. For reprint rights: Syndications Today. India Today Group