घर का सारा सामान मिला, मगर और दहेज के लिए प्रेगनेंट बहू को डिलीवरी के पहले मार डाला

पिता ने ज़मीन बेचकर शादी करवाई थी कि कहीं कुछ कमी न रह जाए.

लालिमा लालिमा
जनवरी 11, 2019
शादी के जोड़े में सकीना (लेफ्ट), मौत के बाद की सकीना की तस्वीर (राइट).

एक लड़की थी. 24 साल की. सरकारी नौकरी करती थी. स्कूल में टीचर थी. शादी हो चुकी थी, और बच्चा भी होने वाला था. प्रेग्नेंसी का 9वां महीना चल रहा था. डॉक्टर्स ने 9 जनवरी की ड्यू डेट बताई थी. सरकारी नौकरी, शादी, बच्चा. सबकुछ जो आदर्श बहू से अपेक्षित होता है.

लेकिन बच्चा होने की तारीख आने से पहले ही लड़की को मार दिया गया. उसके ससुराल वालों ने गला घोंट दिया उसका. साथ में उसके पेट में जो बच्चा था वो भी मर गया. दो-दो जान लेने के बाद, सारे जेवरात लेकर ससुराल वाले फरार हो गए. और अब तक फरार हैं. कहां हैं, कुछ पता नहीं.

ये कहानी है बिहार के अररिया जिले के एक गांव की. लड़की का नाम है सकीना खातून (नाम बदल दिया गया है). सकीना को दहेज के लिए प्रताड़ित किया गया. चार चक्कों वाली गाड़ी मांगी गई. प्रेगनेंट थी, फिर भी टॉर्चर किया गया.

1_750x500_011119030647.jpgसकीना खातुन. फोटो- ऑडनारी

अब सकीना की पूरी कहानी सुनिए. ताकि जान सकें कि जिस खुशनुमा समाज में आप रह रहे हैं, उसकी हकीकत क्या है.

- अररिया में एक गांव है बतनहा. उस गांव में सकीना अपने परिवार के साथ रहती थी. परिवार में माता-पिता, और चार छोटे-भाई बहन थे. पढ़ने में काफी तेज थीं. साल 2013 में बिहार टीएटी का एग्जाम दिया. साल 2016 के फरवरी महीने में उनकी नौकरी लगी. चकरधा के प्राथमिक विद्यालय में टीचर बन गईं. शादी के लिए रिश्ते आने लगे.

- एक रिश्ता आया मोहम्मद रब्बानी नाम के लड़के का. सकीना के भाई मोहम्मद सहबाज ने, हमें बताया कि उनकी तरफ से पहले इस रिश्ते को मना कर दिया गया था. लेकिन फिर दोबारा रब्बानी का रिश्ता सकीना के लिए आ गया. फिर दोनों की शादी हुई. 9 जुलाई 2017 के दिन मुस्लिम रीति-रिवाजों से निकाह हुआ.

3_750x500_011119030658.jpgसकीना खातुन. फोटो- ऑडनारी

- मोहम्मद रब्बानी सशस्त्र सीमा बल (SSB) में था. असम में पोस्टेड था. परिवार अररिया के ही एक गांव- रामपुर बसगडा में रहता था. रब्बानी बीच-बीच में छुट्टियां लेकर रामपुर आता, और कुछ दिनों तक परिवार के साथ रहता.

- शादी के 8-10 महीने बाद तक सब कुछ ठीक था. सकीना भी अपने ससुराल में एडजस्ट हो चुकी थी. लेकिन फिर अचानक से उसके सास-ससुर दहेज मांगने लगे. फोर व्हीलर की डिमांड करने लगे. सकीना के भाई ने हमें बताया कि शादी के टाइम किसी भी तरह की कोई डिमांड नहीं की थी. लेकिन फिर भी सकीना के पिता ने अपनी तरफ से घर का सारा सामान दिया था. जमीन बेचकर शादी की थी बेटी की. सोचा था कि अच्छे से रहेगी सारी जिंदगी.

6_750x500_011119030720.jpgसकीना खातुन पति मोहम्मद रब्बानी के साथ. फोटो- ऑडनारी

- सकीना के सास-ससुर उसे ताना मारते. कहते कि क्या लेकर आई हो, घरवालों से कहकर चार चक्का गाड़ी दिलवाओ. सकीना अपने पिता को कॉल करती. सारी बात बताती. पिता कहते कि अब उनके पास कुछ नहीं है देने के लिए. ये भी कहते कि जब लड़का-लड़की दोनों ही नौकरी करते हैं, तो किस बात की दिक्कत है. जो चाहेंगे, खुद खरीद लेंगे. लेकिन ससुराल वालों के ताने खत्म नहीं हुए. सकीना की जिंदगी खराब होते चली गई.

- इसी बीच वो प्रेगनेंट हो गईं. कुछ महीनों बाद स्कूल से मैटरनिटी लीव मिल गई. जब मायके जाने की बात कही, तो सास-ससुर ने मना कर दिया. कहा कि घर पर ही रहो. जैसे-तैसे प्रेग्नेंसी को 8 महीने बीते. 9वां महीना शुरू हुआ. डॉक्टर्स ने 10 जनवरी की ड्यू डेट दी. ससुराल में ही रह रही थीं. दिसंबर का महीना चल रहा था. सकीना का पति रब्बानी भी छुट्टी लेकर आ गया था.

5_750x500_011119030738.jpgसकीना के बचपन की तस्वीर. ऑडनारी

- इसी बीच एक हादसा हुआ, सकीना के भाई के साथ. 15 दिसंबर को सकीना का एक भाई कोचिंग से लौट रहा था, बाइक पर था. रास्ते में उसका एक्सीडेंट हो गया. उसे अस्पताल में भर्ती कराया गया. सकीना के माता-पिता ने बेटी को बुलाने का सोचा. उसके ससुराल वालों को खबर की. सास-ससुर ने जवाब दिया कि लड़का जिंदा तो है न, तो फिर क्यों भेजें सकीना को, इसकी कोई जरूरत नहीं है. सकीना के मायके वाले चुप रह गए. वैसे भी उस वक्त उसके भाई की तरफ सभी का ध्यान था.

- सकीना की एक बुआ, अररिया शहर में रहती थीं. उन्हें सकीना के पड़ोसी का फोन आया. फोन पर कहा गया कि सकीना के ससुराल वालों ने उसे मार दिया है, और फरार हो गए हैं. सकीना की बुआ ने उसके मां-बाप को कॉल किया. सब उसके ससुराल पहुंचे. पहुंचकर देखा कि सकीना बिस्तर पर पड़ी हुई है. वो मर चुकी थी. घर पर कोई नहीं था. सब लोग सकीना के सारे जेवर लेकर फरार हो गए थे. सकीना की डेड बॉडी को पोस्टमार्टम के लिए भेजा गया. पता चला कि उसको गला घोंटकर मारा गया है. ससुराल वालों के खिलाफ पुलिस में शिकायत हुई.

4_750x500_011119030801.jpgछोटी सकीना अपने माता-पिता के साथ.

- सकीना के पति रब्बानी, ससुर- मोहम्मद शमसेर, सास- बीबी तैमुलिया खातुन, दो जेठ (रब्बानी के बड़े भाई) और जेठानियों के खिलाफ एफआईआर की गई. सकीना की मौत को 20 दिन से ज्यादा हो चुके हैं, लेकिन अभी तक किसी भी आरोपी की गिरफ्तारी नहीं हुई है. ऑडनारी की टीम ने फारबिसगंज पुलिस स्टेशन में कॉल किया. एसएचओ पीके प्रवीण से बात हुई. वही जवाब मिला कि सभी आरोपी फरार हैं, और पुलिस अपना काम कर रही है.

- सकीना के भाई ने बताया कि वो रोज ही पुलिस के चक्कर काट रहे हैं. लेकिन कुछ नहीं हो रहा है. उन्होंने बताया, कि अब तो पुलिसवाले भी उन्हें थाने में देखकर भगा देते हैं, उनकी बात नहीं सुनते हैं. अपनी बहन को याद करते हुए भाई सहबाज की आंखें भर आती हैं. वो कहते हैं-

'हम सब सकीना से बहुत प्यार करते थे. वो बहुत अच्छी थी. हम सबका बहुत ध्यान रखती थी. उसे क्यों मार दिया. क्या मिला उसे मारकर. हमारे पास वापस भेज देते, मारा क्यों. वो नौकरी करती थी. खुद को और अपने बच्चे को पाल सकती थी. लेकिन उसे मार दिया.'

ये कैसा काम है जो पुलिस कर रही है. यही अगर कोई हाई प्रोफाइल मर्डर होता, तो भी क्या पुलिस को 20 से ज्यादा दिन लगते? क्या पुलिस के पास फरार लोगों को खोजने की मशीनरी नहीं है? है, सब है. मगर प्राथमिकता में गरीब औरतों की जान नहीं है.

इसे भी पढ़ें-  40 तोला सोना और 1kg चांदी लेने के बाद भी दहेज चाहिए था, 21 साल की बहू को जिंदा जला दिया 

 

 

ऑडनारी से चिट्ठी पाने के लिए अपना ईमेल आईडी बताएं!

ऑडनारी से चिट्ठी पाने के लिए अपना ईमेल आईडी बताएं!

लगातार ऑडनारी खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करे      

Copyright © 2019 Living Media India Limited. For reprint rights: Syndications Today.