आप भी तो नहीं करतीं मेकअप की ये पांच गलतियां?

ऐसे मेकअप का क्या फायदा जिससे स्किन ही खराब हो जाए.

सरवत फ़ातिमा सरवत फ़ातिमा
अगस्त 13, 2019
(फ़ोटो कर्टसी: Pixabay)

वर्षा को मेकअप का बहुत शौक था. घंटों यूट्यूब पर बैठकर मेकअप वीडियोज़ देखती. उन वीडियोज से नए-नए लुक सीखती. उन्हें ट्राई करती. पर कुछ समय बाद उसने नोटिस किया उसकी स्किन काफ़ी डल दिखने लगी. दाने भी निकलने लगे. वो अपनी स्किन का ध्यान रखती थी. पर इस सबके बावजूद उसकी स्किन पहले जैसी नहीं रही. जब डॉक्टर को दिखाया तो पता चला मेकअप की वजह से उसकी स्किन खराब हो रही थी.

यानी वर्षा मेकअप करते समय कुछ ऐसी गलतियां कर रही थी, जिनकी वजह से उसकी स्किन ख़राब हो रही थी. ये गलतियां बहुत आम है. हममें से कई लोग करते हैं. जैसे-

1. फाउंडेशन या बी/सी क्रीम के भरोसे रहना

आजकल कई मेकअप प्रोडक्ट्स में पहले से सनस्क्रीन होते हैं. उनका दावा होता है कि वो आपकी स्किन को सूरज की रोशनी से बचाकर रखेंगी. इसलिए आप सनस्क्रीन नहीं लगातीं. ये एक बड़ी गलती है. सनस्क्रीन का काम कोई और प्रोडक्ट नहीं कर सकता. ज़रूरी है कि मेकअप लगाने से पहले आप एक अच्छी सनस्क्रीन जरूर लगाएं.

2. मेकअप के लेबल नहीं पढ़ना

ये तो बहुत ही आम गलती है. शायद हममें से कोई भी मेकअप का लेबल पढ़कर चीज़ें ख़रीदता है. अगर आपकी स्किन सेंसिटिव है तो आपको वो प्रोडक्ट्स ख़रीदने चाहिए जिनमें कम से कम इंग्रीडिएंट्स हों. अगर आपको एक्ने की शिकायत रहती है तो आपको non-comedogenic लिखे हुए प्रोडक्ट्स ख़रीदने चाहिए.

Image result for makeup labels ingredients

मेकअप का डब्बा पलटकर ज़रूर देखिए. (फ़ोटो कर्टसी: Pixabay)

3. फाउंडेशन थोपना

हमें लगता है ज़्यादा फाउंडेशन से स्किन पर दाग-धब्बे छुप जाएंगे. साथ ही रंग भी साफ़ दिखेगा. ये एक बड़ी ग़लतफ़हमी है. ज़्यादा फाउंडेशन लगाने के दो नुकसान हैं. एक तो आपके चेहरे के पोर्स ब्लॉक हो जाएंगे. नतीजा दाने. दूसरी बात. ज़्यादा फाउंडेशन से स्किन ड्राई लगेगी. ये फाउंडेशन घंटों आपके चेहरे पर रहेगा. स्किन को सांस लेने का मौका नहीं मिलेगा. अगर आप ऐसा रोज़ करेंगी तो आपकी स्किन डल होने लगेगी.

4. मेकअप वाइप्स का इस्तेमाल

अक्सर हम मेकअप छुड़ाने के लिए मेकअप वाइप्स का सहारा लेते हैं. पर इनपर पूरी तरह निर्भर करना ग़लत है. भले ही इन वाइप्स से आपका मेकअप साफ़ हो जाए पर ये स्किन को सही तरीके से साफ़ नहीं करता. आपकी डेड स्किन नहीं हटा पता. उल्टा आयल और गंदगी आपके पोर्स के अंदर चले जाते हैं. नतीजा? वो बंद हो जाते हैं. और एक बार ऐसा हो गया तो पिंपल तो होने ही हैं. आपके वाइप्स में केमिकल होते हैं. वो इसलिए डाले जाते हैं ताकि आप आसानी से मेकअप हटा पाएं. साथ ही उन्हें फ्रेश रखने के लिए प्रिजरवेटिव इस्तेमाल किए जाते हैं. जब आप वाइप्स से अपना मुंह पोंछती हैं तो बचे-खुचे केमिकल आपकी स्किन पर रह जाते हैं. इसलिए ज़रूरी है कि आप अपना मुंह भी धोएं.

Image result for makeup wipes removing makeup

मेकअप वाइप्स के भरोसे मत रहिए. (फ़ोटो कर्टसी: Pixabay)

5. खुशबू वाले मेकअप प्रोडक्ट्स खरीदना

कुछ मेकअप प्रोडक्ट्स में परफ्यूम होता है. मकसद होता है कि इन प्रोडक्ट्स से ख़ुशबू आए. लोग इन्हें चाव से ख़रीद भी लेते हैं. पर बेहतर है आप ऐसे प्रोडक्ट्स से दूर रहिए. खासतौर पर अगर आपकी सेंसिटिव स्किन है. अगर मेकअप प्रोडक्ट्स में परफ्यूम है तो आपको एलर्जी होने के पूरे चांस हैं.

पढ़िए: अगर आंखों में लेंस लगाती हैं तो इन बातों का ध्यान ज़रूर रखिए

 

लगातार ऑडनारी खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करे      

Copyright © 2019 Living Media India Limited. For reprint rights: Syndications Today. India Today Group