कौन हैं IPS लिपि सिंह जिनकी छापेमारी के बाद से MLA अनंत सिंह फरार चल रहे हैं

अनंत सिंह के घर से AK-47 और जिंदा कारतूस बरामद हुए थे.

उमा मिश्रा उमा मिश्रा
अगस्त 23, 2019
आईपीएस अधिकारी लिपि सिंह और विधायक अनंत सिंह.

बिहार के मोकामा से विधायक हैं अनंत सिंह. इनके यहां छापेमारी हुई, कई तरह के हथियार बरामद हुए. गिरफ्तारी के लिए पुलिस घर पहुंची, तो ये गायब हो गए. अब आप सोच रहे होंगे कि छापेमारी तो पुलिस करती रहती है, इसमें नया क्या है?

तो नया और अहम ये है कि अनंत सिंह को 'बाहुबली नेता' कहा जाता है. इनका खौफ इतना है कि इनके खिलाफ कोई अपना मुंह नहीं खोलता. दबदबा इतना है कि लोग इनसे डरते हैं.

लेकिन इस बार एक महिला IPS ऑफिसर ने इनसे लोहा लिया है. नाम है लिपि सिंह. उन्होंने अनंत सिंह के पैतृक गांव लदमा में उनके घर पर छापेमारी की. यहां AK-47 राइफल, 22 जिंदा कारतूस और 2 देसी बम बरामद किए. उसके बाद लिपि ने अनंत सिंह के खिलाफ UAPA यानी अनलॉफुल एक्टीविटीज प्रिवेंशन एक्ट के तहत FIR भी दर्ज की.

हालांकि अनंत सिंह ने कई वीडियो जारी किये. और कहा कि उन्हें गिरफ्तार होने से डर नहीं लगता है, वो जल्दी ही सरेंडर कर देंगे. पर अभी तक उन्होंने सरेंडर नहीं किया है. 

इंडिया टुडे के रिपोर्टर रोहित सिंह के मुताबिक, मामला दर्ज होने के बाद अनंत सिंह को गिरफ्तार किया जाना था. पुलिस उनकी गिरफ्तारी के लिए पटना स्थित आवास पर गई भी. पर वो वहां से फरार हो गए. और अभी तक फरार ही चल रहे हैं.

lipii_082319120659.jpgबाढ़ में एक ऑपरेशन के दौरान लिपि सिंह. फोटो आभार : न्यूज 18.

इसके बाद लिपि सिंह ने अनंत के दाहिने हाथ कहे जाने वाले लल्लू मुखिया के खिलाफ FIR दर्ज की. पर पुलिस जब उसे गिरफ्तार करने पहुंची, तो वो भी वहां से गायब हो गया. फिर लिपि सिंह कोर्ट गईं और वहां उन्होंने लल्लू मुखिया की संपत्ति को कुर्क करने यानी जब्त करने की परमिशन ली. उसके बाद इसकी कार्रवाई भी शुरू कर दी.

अब लिपि सिंह हैं कौन, ये भी जानिए-

लिपि सिंह. 2016 बैच की आईपीएस अधिकारी हैं. और JDU यानी जनता दल (यूनाइडेट) के राज्यसभा सांसद आरपी सिंह की बेटी हैं. लिपि ने 2015 में सिविल सर्विसेज का एग्जाम क्वालिफाई किया था. इसमें उनकी 114 रैंक थी. उसके बाद ये नालंदा जिले की पहली महिला IPS अधिकारी बनी थीं. ट्रेनिंग में अच्छा काम करने के बाद केंद्रीय गृह मंत्रालय ने इन्हें बिहार कैडर अलॉट किया था.

जब उन्हें अपना पद छोड़ना पड़ा

लिपि सिंह पहले पटना के बाढ़ इलाके की एडिशनल एसपी थीं. 2019 में हुए आम चुनाव के दौरान, अनंत सिंह की पत्नी नीलम देवी ने चुनाव आयोग में शिकायत कर दी थी. आरोप था कि लिपि अनंत सिंह के करीबियों को जानबूझ कर परेशान कर रहीं थीं. इसके बाद चुनाव आयोग के आदेश के बाद लिपि सिंह का ट्रांसफर ATS यानी एंटी टेरेरिज़म स्क्वॉड (आतंक विरोधी दस्ते) में कर दिया गया था. लेकिन चुनाव के बाद इन्हें एक बार फिर बाढ़ एडिशनल एसपी नियुक्त कर दिया गया था.

इसे भी पढ़ें : मद्रास हाईकोर्ट के जज ने ऐसी बात कह दी है कि सिर भन्ना जाएगा

वीडियो देखें : 

 

लगातार ऑडनारी खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करे      

Copyright © 2019 Living Media India Limited. For reprint rights: Syndications Today. India Today Group