इस बीमारी की वजह से हॉस्पिटल में भर्ती हैं काजोल की मम्मी तनुजा, कहीं ये आपको तो नहीं

तनुजा की सर्जरी हुई है.

(फ़ोटो कर्टसी: ट्विटर)

काजोल की मम्मी तनुजा मुंबई के लीलावती अस्पताल में भर्ती हैं. 75 साल की तनुजा को पेट में बर्दाश्त के बाहर दर्द उठा था. जिसके बाद उन्हें अस्पताल में भर्ती करवाया गया. जांच में पता चला उन्हें डाइवर्टिक्युलाइटिस है. इसलिए उनकी सर्जरी भी करनी पड़ी. फ़िलहाल वो ठीक हैं. पर पूरी तरह ठीक होने में अभी उन्हें कुछ हफ़्ते और लगेंगे.

हो सकता है आप ने डाइवर्टिक्युलाइटिस का नाम ही पहली बार सुना हो. पर ये बीमारी अब बहुत आम है. हो सकता है आपके आसपास भी किसी को हो. तो क्या होता है डाइवर्टिक्युलाइटिस?

ये जानने के लिए हमने बात की डॉक्टर एस के ठाकुर से. वो सीताराम भारतीय हॉस्पिटल, नई दिल्ली में गैस्ट्रोएंटरोलॉजिस्ट हैं. यानी पेट की बीमारियों के डॉक्टर.

तो सबसे पहली बात, क्या होता है डाइवर्टिक्युलाइटिस

डॉक्टर ठाकुर की मानें तो अब डाइवर्टिक्युलाइटिस बहुत ही आम बीमारी है. ये एक कंडीशन है जिसमें आपके डाईजेस्टिव ट्रैक की बैंड बज जाती है. अब डाईजेस्टिव ट्रैक यानी वो पाइपनुमा चीज़ जो खाना पेट तक लेकर जाता है, उसे पचाता है, और उससे एनर्जी बनाता है और बाकी शरीर को पोषण देता है.

Image result for digestive tract

ये एक कंडीशन है जिसमें आपके डाईजेस्टिव ट्रैक की बैंड बज जाती है. (फ़ोटो कर्टसी: Pixabay)

डाइवर्टिक्युलाइटिस के क्या लक्षण हैं

कई बार तो कोई भी लक्षण पता नहीं चलते. पर कुछ आम लक्षण हैं:

-पेट के निचले हिस्से में दर्द

-सूजन

-डायरिया

-कब्ज़

अगर डाइवर्टिक्युलाइटिस हो जाता है तो ये लक्षण दिखते हैं:

-पेट के निचले हिस्से में लगातार बहुत ज़्यादा दर्द रहना. ये उल्टे हाथ ही तरफ़ उठता है.

-उल्टी

-बुखार के साथ ठंड लगना

-स्टूल यानी शौच के साथ खून निकलना

क्यों होता है डाइवर्टिक्युलाइटिस

हमारी आंतों की जो वॉल होती है उसमें छोटे-छोटे पाउच बन जाते हैं. यानी कटोरी टाइप की चीज़ें. ये अपने आप में एक बीमारी है जिसे डाइवर्टिक्यूला कहते हैं. डाइवर्टिक्युलाइटिस में इन कटोरियों में सूजन आ जाती है या इन्फेक्शन हो जाता है.

इसकी एक वजह है कि जो खाना हज़म नहीं हुआ है वो आंतों की इन कटोरीनुमा चीज़ों में फंस जाता है. और इससे इंफेक्शन हो जाता है. हालांकि डॉक्टर ठाकुर कहते हैं कि कोई एक वजह नहीं है. कई हो सकती हैं जैसे जेनेटिक और आपका लाइफस्टाइल. खासतौर पर अगर आप ऐसा खाना खाते हैं जिसमें फाईबर नहीं होता.

Image result for fiber foods

ये कुछ चीज़ें हैं जिनमें फाईबर होता है. (फ़ोटो कर्टसी: Pixabay)

कैसे पता चलेगा आपको डाइवर्टिक्युलाइटिस है

इसके लिए आप कुछ टेस्ट करवा सकते हैं. जैसे:

-सीटी स्कैन

-पेट का एक्सरे

-अल्ट्रासाउंड

-स्टूल का टेस्ट

-यूरीन ता टेस्ट

-ब्लड टेस्ट

-प्रेग्नेंसी टेस्ट में पता चल सकता है कि कहीं आपको डाइवर्टिक्युलाइटिस तो नहीं.

डाइवर्टिक्युलाइटिस का क्या इलाज है

-हाज़मा ठीक करने के लिए हो सकता है डॉक्टर आपको सॉलिड खाना अवॉयड करने के लिए कहें.

-कुछ दिनों के लिए लिक्विड डाइट दी जाए

-ठीक होने के बाद वो खाना ज़रूर खाएं जिसमें फाईबर हो. जैसे संतरा, सेब, आम, वगैरह. साथ ही गेहूं और दालें भी

-इसके अलावा आपका डॉक्टर दवाइयां भी देगा

-नीडल ड्रेनऐज-इसमें एक सुई पेट के निचले हिस्से में डाली जाती हैं. पस वगैरह निकालने के लिए.

-सर्जरी भी एक तरीका है

पढ़िए: अनिमियत पीरियड की वजह से वज़न बढ़ा हुआ है तो इस तरह घटाएं

 

लगातार ऑडनारी खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करे      

Copyright © 2019 Living Media India Limited. For reprint rights: Syndications Today. India Today Group