RCB की फैनगर्ल को मिली बिन मांगी शोहरत का एक नुकसान भी है

कैमरामैन ने लड़की की तरफ कैमरा घुमाया और वो रातों-रात सोशल मीडिया सेंसेशन बन गई.

(फ़ोटो कर्टसी: ट्विटर)

आईपीएल में विराट कोहली की टीम यानी रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर की एक फैन की एक तस्वीर भयानक तरीके से वायरल हो रही है. हो सकता है आपने भी उसके बारे में किसी नई जानकारी की उम्मीद में इस आर्टिकल पर क्लिक किया हो. सोचा हो उसकी तस्वीरें देखने को मिलेंगी. लेकिन यहां हम आपको ऐसा कुछ नहीं परोसने वाले. वो इसलिए क्योंकि उस लड़की की तस्वीरें इस्तेमाल यहां करने के लिए हमने उनका कंसेंट (सहमति) नहीं ली है.

जो लोग नहीं जानते हम किस बारे में बात कर रहे हैं, वो सब्र करें. हम बताते हैं. आईपीएल चल रहे हैं. कुछ दिन पहले ‘रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर’ और ‘सनराइजर्स हैदराबाद’ के बीच मैच हो रहा था. तभी कैमरामैन की नज़र दर्शकों में बैठी एक लड़की पर पड़ी. लाल रंग के ऑफ-शोल्डर टॉप में वो ‘रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर’ की टीम को चियर कर रही थी. कैमरामैन ने लड़की की तरफ कैमरा घुमाया और टीवी स्क्रीन पर वो दिखने लगी. बस फिर क्या था. प्रिया प्रकाश वॉरियर की तरह ये लड़की भी रातों-रात सोशल मीडिया सेंसेशन बन गई. ऐसा लग रहा है जैसे पूरा देश इसके बारे में ज्यादा से ज्यादा जानना चाहता है. लोग उसकी तस्वीरें ढूंढ-ढूंढ़कर देख रहे हैं. और शेयर कर रहे हैं. उसके इंस्टाग्राम अकाउंट का भी पता लगा लिया है लोगों ने. एकाएक उसके इंस्टाग्राम फॉलोअर्स में सेंसेक्स की तरह उछाल आ गया.

अब इस बिन मांगी शोहरत के कुछ नुकसान भी हैं. लड़की की तस्वीरें वायरल होने के बाद, लोग उस पर भद्दे कमेंट्स और ट्वीट करने लगे. कुछ नमूने तो यहीं देख लीजिए.

lollypop_050619050317.jpg

(इस तस्वीर का क्या मतलब है, ये समझने के लिए आपको जीनियस होने की ज़रूरत नहीं है) (फ़ोटो कर्टसी: ट्विटर)

ऐसा पहली बार नहीं हुआ कि मैच देखने आई किसी लड़की की तस्वीर रातों-रात वायरल हो गई हो. लोग उसका नाम जानने लगे. अब सोच रहे होंगे कि इसमें दिक्कत क्या है? नाम और शोहरत मिलने का क्या नुकसान हो सकता है? नुकसान है. पर शायद किसी ने इस बारे में सोचने की ज़हमत नहीं उठाई.

लड़की को टीवी पर देखने के बाद सोशल मीडिया पर कई लोग उसके बारे में बात करने लगे. मीडिया हाउसेस ने भी इसका फ़ायदा उठाया. कंटेंट के नाम पर उस लड़की के बारे में जितनी जानकारी मिली, सब झोंक दी. उसका नाम. उसका इंस्टाग्राम हैंडल वगैरह. लेकिन ये सब करने से पहले किसी ने लड़की की रज़ामंदी नहीं ली. अब बस उसका शहर, किस कॉलेज में पढ़ती है और उसका एड्रेस दुनिया के सामने आने की देर है. ताकि उसके कुछ सिरफिरे फैन्स घर तक भी पहुंच जाएं.

जो बात लोगों की समझ से परे है वो ये कि इस लड़की के बारे में दुनियाभर की जानकारी देना उसकी सिक्योरिटी को खतरे में डालना है. कैमरामैन ने एक बार लड़की का चेहरा टीवी पर दिखाया और लोग दीवाने हो गए. उसके बारे में पूरा इंटरनेट खंगालने लगे. क्या गैरेंटी है कि ये बिन मांगी शोहरत इस लड़की पर भारी नहीं पड़ेगी.

हम लड़कियों को ऑब्जेक्टीफाई करने में माहिर हैं. यानी लड़की का शरीर, उसका चेहरा एक भोग की वस्तु की तरह देखा जाता है. लड़की ने फ़ोटो में एक ऑफ-शोल्डर क्रॉप टॉप पहना है. इस वजह से तस्वीर को और ज़्यादा तवज्जो दी जा रही है. ये कुछ ट्वीट इस बात का सुबूत हैं:

1_050619051750.jpg

2_050619052048.jpg

अगर इस लड़की की जगह कोई लड़का, किसी टीम का झंडा लहरा रहा होता तो क्या उसे इतनी ही तवज्जो मिलती? क्या उसकी तस्वीरें ऐसे वायरल होती? लोग उसके पीछे अपने होश यूं गंवा बैठते.

2018 में एशिया कप चल रहा था. उस दौरान भी एक पाकिस्तानी लड़की की तस्वीर वायरल हुई थी. लोगों ने सोशल मीडिया पर भतेरी उल-फिज़ूल बातें लिखीं. चाहे हम सच्चाई से कितना भी मुंह मोड़ें, एक बात तो ज़ाहिर है. इन सारी तस्वीरों में वायरल होने वाली लड़कियों के बीच एक चीज़ कॉमन होती है. वो समाज की नज़र के हिसाब से दिखने में ‘सुंदर’ होती हैं. उनके नैन-नक्श ‘तीखे’ होते हैं. ‘स्लिम’ होती हैं. कहने का मतलब कैमरामैन की नज़र हमेशा ऐसी’ सुंदर’ लड़कियों पर ही पड़ती है जो ‘हीरोइन मटेरियल’ होती हैं. आप और हम जैसी दिखने वाली आम लड़की नहीं.

3_050619052301.jpg

अब ये लड़की को ऑब्जेक्टिफाई करना नहीं हुआ तो क्या हुआ. मैच देख रहे पुरुषों के लिए ये एक तरह की ट्रीट होती है. स्पोर्ट्स के दौरान एक ‘सुंदर’ दिखने वाली लड़की का फुटेज. जैसे चियरलीडर. इनको मैच के दौरान चियर करने के लिए क्यों रखा है, ये गेस करने के लिए आपको जीनियस होने की जरूरत नहीं है. मैच के दौरान किसी लड़की के चेहरे पर ऐसे फोकस करना. बाद में उसकी रजामंदी के बिना उसकी डिटेल शेयर कर देना. कितना सही है? अगर कोई लड़की इस चीज़ से सहज नहीं है तो? अगर वो नहीं चाहती उसका नाम और तस्वीर हर वेबसाइट पर छपे तो? सोशल मीडिया उसके बारे में बकवास मीम्स और बातों से पट चुका है.

इस पूरे मामले में दो बड़ी दिक्कतें हैं:

-लड़की की सिक्योरिटी से कॉम्प्रोमाइज़. फ़र्ज़ कीजिए कोई सिरफिरा इंसान इस लड़की का पीछा करने लगे. उसके घर पहुंच जाए. सिर्फ़ इसलिए क्योंकि लड़की के बारे में सारी जानकारी उसका नाम, शहर, पता ऑनलाइन पोर्टल पर अवेलेबल है.

-दूसरी बात. स्पोर्ट्स के दौरान लड़कियों पर फोकस करना. आजकल इसका चलन शुरू हो गया है. और ये एक तरह की सोच को बढ़ावा देता है. स्पोर्स में ‘सुंदर’ दिखने वाली लड़कियों का मसाले की तरह इस्तेमाल करना. ताकि वो और मज़ेदार बन सके.

आपको क्या लगता है?

पढ़िए: एक्ट्रेस ने 'स्लट शेमिंग आंटी' की इंग्लिश का मजाक उड़ाया, खुद ट्रोल हो गईं

 

लगातार ऑडनारी खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करे      

Copyright © 2019 Living Media India Limited. For reprint rights: Syndications Today. India Today Group