क्या है ये पैप स्मियर टेस्ट जिसका नाम सुनकर ही औरतें डर जाती हैं?

ये टेस्ट करवाना हर औरत के लिए जरूरी है.

सांकेतिक तस्वीर. (फ़ोटो कर्टसी: ट्विटर)

मेरी एक दोस्त काफ़ी दिनों से बहुत परेशान दिख रही थी. आज उससे बात हुई तो मैंने पूछा कि माजरा क्या है. पता चला उसे डॉक्टर ने पैप स्मियर करवाने के लिए कहा है. इसलिए वो काफ़ी डरी हुई है. अब आप सोच रही होंगी कि आखिर ये पैप स्मियर क्या बला है. ये एक तरह का टेस्ट होता है. और हर औरत को इस टेस्ट के बारे में पता होना चाहिए. क्योंकि इससे जुड़े काफ़ी मिथक भी हैं. औरतें इनपर आसानी से भरोसा भी कर लेती हैं. तो सबसे पहले...

ये जान लेते हैं कि पैप स्मियर क्या होता हैः

ये जानने के लिए हमने बात की डॉक्टर साधना काला से. वो मूलचंद हॉस्पिटल, नई दिल्ली में स्त्रीरोग विशेषज्ञ यानी गायनेकोलॉजिस्ट हैं. उन्होंने हमें बताया:

“पैप स्मियर को पैप टेस्ट भी कहा जाता है. इसमें आपके सर्विक्स से सेल्स इकट्ठे किए जाते हैं. अब ये सर्विक्स क्या होता है? सर्विक्स होता है आपके गर्भाशय का निचला और पतला हिस्सा. ये आपकी वजाइना के ठीक ऊपर होता है. पैप टेस्ट में एक लकड़ीनुमा चम्मच से सेल्स को इकट्टा किया जाता है.”

क्यों किया जाता है पैप स्मियर

डॉक्टर काला बताती हैं:

“पैप स्मियर से सर्वाइकल कैंसर के बारे में पता लगाया जाता है. सर्विक्स से लिए गए सेल्स की जांच की जाती है कि कहीं इनमें कैंसर सेल्स तो नहीं हैं. कैंसर सेल्स यानी वो सेल्स जिनकी वजह से कैंसर होता है या आगे हो सकता है.”

Related image

सर्विक्स से सेल्स को इकट्ठा कर उनको टेस्ट के लिए भेजा जाता है. (फ़ोटो कर्टसी: ट्विटर)

तो क्या पैप स्मियर का मतलब है कि आपको कैंसर है?

हरगिज़ नहीं. ये एक बड़ी ग़लतफ़हमी औरतों में होती है. उन्हें लगता है पैप स्मियर कराने का मतलब है कि उन्हें कैंसर है. हां, ये टेस्ट कैंसर के सेल्स पता करने के लिए ज़रूर किया जाता है. पर अगर आपकी डॉक्टर ने इसे करवाने के लिए बोला है तो इसकी कुछ वजहें और भी हो सकती हैं. क्या हैं वो वजहें?

डॉक्टर काला कहती हैं:

“अगर आपको वजाइना में इन्फेक्शन है या आपको सफ़ेद डिस्चार्ज हो रहा है वजाइना से तो डॉक्टर आपको पैप स्मियर करवाने के लिए कह सकते हैं. ये पता करने के लिए कि आपको दिक्कत क्या है. और उसे बढ़ने से रोकने के लिए.”

किसको करवाना चाहिए ये टेस्ट

डॉक्टरों के हिसाब से ये टेस्ट 21 से 65 साल की औरतों को करवाना चाहिए. उनके मुताबिक, 40 साल या उससे अधिक उम्र की औरतों को तो इसे रूटीन चेकअप की तरह करवाना चाहिए. पर जो लड़कियां 21 साल से ऊपर हैं और सेक्सुअली एक्टिव हैं उन्हें भी पैप स्मियर करवाना चाहिए. रूटीन के तौर पर.

बाकी अगर आपको वजाइना में कोई इन्फेक्शन है तो भी आपको पैप स्मियर टेस्ट करवाने के लिए कहा जा सकता है.

ये टेस्ट हर तीन साल में करवाना चाहिए.

Related image

ये टेस्ट करवाने से मत डरिए (फ़ोटो कर्टसी: ट्विटर)

पैप स्मियर टेस्ट करवाने से पहले क्या सावधानी बरतनी चाहिए

-टेस्ट से पहले सेक्स न करें

-वजाइना को पानी से न धोएं

-टेस्ट करवाने के दो दिन पहले से वजाइनल वॉश या किसी तरह की क्रीम का इस्तेमाल बंद कर दें

-अगर आपको पीरियड्स हो रहे हैं तो उस समय टेस्ट मत करवाइए

पैप स्मियर टेस्ट की कीमत क्या होती है

पैप स्मियर की कीमत शहर और अस्पताल पर निर्भर करती है. ये सरकारी अस्पतालों में फ्री है. प्राइवेट अस्पतालों में इसकी कीमत 300 से 700 के आसपास होती है.

Image result for pap smear

फ़ोटो कर्टसी: ट्विटर

इस टेस्ट के बाद क्या होगा

एक बार आपका रिजल्ट आ जाए तो दो चीज़ें होंगी:

-अगर टेस्ट का रिजल्ट नॉर्मल है यानी कैंसर सेल्स नहीं निकलते हैं तो आपको और किसी टेस्ट की ज़रूरत नहीं पड़ेगी

-अगर सेल्स में कुछ गड़बड़ निकली है (ज़रूरी नहीं है ये कैंसर सेल्स की मौजूदगी हो) तो रिजल्ट पॉजिटिव आएगा. इसका ये मतलब बिल्कुल नहीं है कि आपको कैंसर ही है. पॉजिटिव का मतलब है कि जिस तरह के सेल्स आपके टेस्ट में निकले हैं वो नॉर्मल यानी हेल्दी नहीं हैं.

इसके बाद आपका डॉक्टर बताएंगे कि आगे क्या करना है.

लेडीज़, पैप स्मियर सुनकर डरना बंद करिए. ये टेस्ट आपके लिए ज़रूरी है. इसे करवाती रहिए.

पढ़िए: वो चार गलतियां जो ब्लैकहेड निकालते समय हर लड़की करती है

 

लगातार ऑडनारी खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करे      

Copyright © 2019 Living Media India Limited. For reprint rights: Syndications Today. India Today Group