शादी का प्रपोज़ल ठुकराने पर औरत के साथ जो हुआ वो इस देश का कड़वा सच है

प्रपोज डे पर ये सीख लीजिए कि 'नो' मीन्स 'नो' होता है.

सरवत फ़ातिमा सरवत फ़ातिमा
फरवरी 08, 2019
आरोपी श्याम बिहार का रहने वाला है. फ़ोटो: तन्सीम हैदर

8 फ़रवरी. पता है आज क्या है? प्रपोज़ डे. यानी आप जिससे प्यार करते हैं, आज उसे प्रोपोज़ कर सकते हैं. वैसे कर तो कभी भी सकते हैं. पर चलन है. खैर. अभी हम आपको कोई लव स्टोरी नहीं सुनाएंगें. उल्टा सच से रूबरू करवाएंगे. फिल्मों की तरह असल ज़िंदगी में प्यार का दावा करने वाले, रिजेक्ट होने के बाद क्या करते हैं?

दिल्ली के ठीक बाहर नांगलोई नाम का इलाका पड़ता है. 45 साल की माधुरी वहां अपनी 12 साल की बेटी और पति के साथ रहती थी. पास की ही एक जूते बनाने वाली फैक्ट्री में काम करती थी. उसी फैक्ट्री में श्याम यादव नाम का एक आदमी भी काम करता था. बिहार का रहने वाला था. माधुरी, श्याम से 18 साल बड़ी थी. श्याम, माधुरी को पसंद करने लगा. उसे प्यार करने लगा. इस हद तक कि उसने माधुरी से शादी करने का मन बना लिया. पर क्योंकि वो शादीशुदा थी, उसने श्याम को साफ़ मना कर दिया.

पर श्याम अपनी हरकतों से बाज़ नहीं आया. वो फिर भी माधुरी के पीछे पड़ा रहा. थक-हारकर माधुरी को नौकरी ही छोड़नी पड़ी. पर उसकी मुसीबतें यहां खत्म नहीं हुईं. श्याम ने उसका पीछा करना शुरू कर दिया. माधुरी का घर से बाहर निकलना दूभर हो गया.

आजतक के डिप्टी एडिटर तन्सीम हैदर ने बताया कि 6 फ़रवरी को माधुरी अपनी बेटी के साथ घर से बाहर जा रही थी. तभी श्याम ने उसके ऊपर चाकू से वार कर दिया. माधुरी की बेटी सामने खड़ी थी. उसकी आंखों के सामने श्याम ने माधुरी को चाकू से गोद डाला. इसके बाद वो वहां से भाग गया. बच्ची भागते हुए अपने घर गई और अपने घरवालों को सारी बात बताई. वो माधुरी को लेकर अस्पताल भागे. पर वहां पहुंचने पर पता चला कि वो मर चुकी है.

woman-1_020819024747.jpgमाधुरी और श्याम एक जूते बनाने की फैक्ट्री में काम करते थे. फ़ोटो: तन्सीम हैदर

इसके बाद, माधुरी के परिवारवाले पुलिस स्टेशन भागे. वहां उन्होंने अपनी शिकायत लिखाई. माधुरी की बेटी ने अपने बयान में श्याम के बारे में बताया. पुलिस ने अपनी जांच करनी शुरू कर दी. इतने में माधुरी के परिवारवाले भी श्याम को ढूंढने लगे. ढूंढते-ढूंढते वो एक श्मशान घाट तक पहुंचे. वहां उन्होंने श्याम को छुपा हुआ देखा. माधुरी के घरवालों को देखते ही वो वहां से भागने लगा. इतनी देर में उन लोगों ने उसे धर-दबोचा. पुलिस को फ़ोन भी कर दिया. पुलिस मौके पर पहुंची और उसे गिरफ़्तार कर लिया. उसके पास से वो चाकू भी मिल गया जिससे माधुरी को मारा गया था.

तहकीकात अभी भी जारी है. पुलिस ने बताया कि श्याम दिल्ली छोड़ने की फ़िराक में था.

ये कोई पहला केस नहीं है जब शादी से मना करने की वजह से किसी औरत को मार डाला गया हो. ये आखरी भी नहीं है. हिंदुस्तान में हर साल कई ऐसी माधुरियां मार दी जाती हैं. क्योंकि श्याम जैसा कोई इंसान उनसे ‘प्यार’ करता है. उन्हें हासिल करना चाहता है. पर उनकी मर्ज़ी मायने नहीं रखती. उनकी ना भी सुनाई नहीं देती. आख़िर में होता क्या है? प्यार की दुहाई देने वाला शख्स खून या रेप करने पर उतर आता है. ये कैसा प्यार है, हमारी समझ से तो परे है.

पढ़िए: 19 साल की लड़की ने सेक्स टॉय इस्तेमाल करके 25 साल की लड़की का रेप किया !

 

 

 

ऑडनारी से चिट्ठी पाने के लिए अपना ईमेल आईडी बताएं!

ऑडनारी से चिट्ठी पाने के लिए अपना ईमेल आईडी बताएं!

लगातार ऑडनारी खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करे      

Copyright © 2019 Living Media India Limited. For reprint rights: Syndications Today. India Today Group