डियर पापा! मुझे प्यार चाहिए था, आपसे नहीं मिला तो मैंने अपनी मर्ज़ी से शादी कर ली

आपने कभी मेरे लिए स्टैंड लिया, न मुझसे प्यार किया.

ऑडनारी ऑडनारी
अगस्त 05, 2019

(ये ब्लॉग हमें हमारी एक रीडर ने भेजा है. वो 24 साल की हैं. पहचान छिपाने के लिए हम उनका नाम जाहिर नहीं कर रहे हैं.)

डियर पापा,

मैं आपसे बहुत प्यार करती हूं. आपके साथ ही रहना चाहती हूं. आई नो. ये पॉसिबल नहीं है अब. मुझे तो दूसरी मम्मी भी नहीं चाहिए थी, मुझे तो बस आपका प्यार चाहिए था. जो कि नहीं मिला. मैं उसके लिए आज भी तरस रही हूं.

छोटी थी, तभी मम्मी चली गईं. मुझे पहले दादी ने संभाला और फिर मुझे संभालने के लिए आप नई मम्मी ले आए. आपने मुझसे न एक बार भी पूछा और न ही बाताय. बस घर वालों के कहने पर दूसरी शादी कर ली. मुझे थोड़ा गुस्सा आया, पर बाद में उन्होंने मेरा अच्छे से ख्याल रखा, तो मैं नॉर्मल हो गई. फिर लगा आप मुझे समझोगे, प्यार दोगे. पर आप तो और दूर चले गए. आपने न तो नई मम्मी को उतना प्यार दिया और न ही मुझे.

fff_750x500_080519062437.jpgसांकेतिक तस्वीर- pixabay

आप बस बड़े पापा के बच्चों को ही पैम्पर करते रहे. वो ही जैसे आपके सब कुछ हों, हम नहीं. कई बार तो मैं रोई भी. पर आप पिघले नहीं. हमेशा नाक पर गुस्सा. कभी एक पापा की तरह बात ही नहीं की. हमेशा आपने डाटा-गुस्सा किया.

मेरी कभी कोई ख्वाहिश पूरी नहीं की. हां कभी-कभी मुझे खुश करने की कोशिश की. पर तब तक आपके प्रति मेरे मन में काफी खटास आ चुकी थी.

मैंने बहुत कोशिश की उसे खत्म करने की, पर आपने कभी चाहा ही नहीं. पूरे घर में बची हुई चीज मुझे मिलती थी. सबके लिए आप सामान लेकर आते थे, पर मुझे सबसे अंतिम में पूछा जाता था. आप तब भी कुछ नहीं कहते थे. दूसरे की गलती पर भी आप मुझे ही मारते-डाटते.

मैं तो प्यार ही चाहती थी. हर चीज के लिए मुझे 10 लोगों से पूछना पड़ता था. जो हर बार मना हो जाती थी. आपने कभी मेरे लिए स्टैंड नहीं लिया.

मैं उसे भी जाने दिया. हर बार यही सोचा कि आप समझ जाएंगे. मैं धीरे-धीरे बड़ी होने लगी. बाहर पढ़ना चाहती थी. पर आपने मना कर दिया, बहुत मनाया, पर आपका जवाब ना था.

ff_750x500_080519062454.jpgसांकेतिक तस्वीर- pixabay

जब मुझे कुछ नहीं मिला, तब मैंने अपना रास्ता खुद बनाया. आपको हर्ट नहीं करना था. पर अगर मैं ऐसे ही रहती तो मुझे नहीं लगता कि मेरे पसंद का आगे भी कुछ होता. इसीलिए मैंने अपनी मर्जी से शादी कर ली. सॉरी पापा, हर्ट नहीं करना था.

पापा मुझे प्यार चाहिए था. ठीक वैसा ही, जैसा आप दूसरों के बच्चों के साथ करते हैं. मैंने आज भले ही आपकी मर्जी के खिलाफ शादी कर ली, पर आज भी मैं इस इंतजार में हूं कि आप गुस्सा कम करेंगे और मुझे गले लगाकर अपनाएंगे.

इसे भी पढ़ें : एक चिट्ठी नई-नवेली मम्मियों के नाम

वीडियो देखें : 

 

लगातार ऑडनारी खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करे      

Copyright © 2019 Living Media India Limited. For reprint rights: Syndications Today. India Today Group