प्रेग्नेंसी के दौरान भूलकर भी न करें ये चार काम

प्रेग्नेंसी में आपका शरीर बदलता है और उसकी ज़रूरतें भी.

सरवत फ़ातिमा सरवत फ़ातिमा
जुलाई 03, 2019
कौन से हैं वो काम जो आप कर सकती हैं और कौन से नहीं? (फ़ोटो कर्टसी: Pixabay)

रमा की ये पहली प्रेग्नेंसी थी. उसके घरवाले बहुत ख़ुश थे. इतने कि उनका बस चलता तो उसे बिस्तर से उतरने ही नहीं देते. रमा किसी भी काम को हाथ लगाती तो कोई न कोई आकर उसे रेस्ट करने की सलाह दे जाता.

कुछ समय बाद रमा बुरी तरह बोर होने लगी. उसे खाना बनाने का शौक था. पर उसकी सास उसे ज़्यादा देर खड़े नहीं रहने देती थीं. उनका कहना था कि थकान का असर बच्चे पर पड़ेगा. जब रमा डॉक्टर को दिखाने गई तो उसने इस बारे में बात की. डॉक्टर से पूछा कि क्या वाकई उसे घर के कामों से दूर रहना चाहिए. डॉक्टर ने उसे एक लिस्ट पकड़ाई. उसमें लिखा था वो क्या कर सकती है और या नहीं.

ये कहानी अकेले रमा की नहीं है. आमतौर पर औरतें प्रेगनेंट हो जाती हैं तो उन्हें ग्रेनेड की तरह ट्रीट किया जाने लगता है. ये मत करो, वो मत करो. इसे हाथ मत लगाओ. उसे हाथ मत लगाओ. ये न खाओ. वो न पियो. इन सब चीज़ों के पीछे एक ही मकसद होता है. बच्चे पर असर न पड़े.

Image result for pregnant woman

प्रेगनेंट होने का ये मतलब नहीं कि आप किसी काम को हाथ नहीं लगा सकती. (फ़ोटो कर्टसी: Pixabay)

इसलिए हमने सोचा क्यों न कुछ डॉक्टर्स से बात की जाए. उनसे पूछा जाए कि क्या वाकई प्रेग्नेंसी के दौरान घर के कुछ कामों से बचना चाहिए.

डॉक्टर लवलीना नादिर फ़ोर्टिस मुंबई में स्त्रीरोग विशेषज्ञ हैं. और डॉक्टर अनुराधा कपूर मैक्स हॉस्पिटल दिल्ली में स्त्रीरोग विशेषज्ञ हैं. दोनों ने हमें बताया कि प्रेग्नेंसी के दौरान घर के कौन से कामों से दूर रहना चाहिए.

डॉक्टर लवलीना नादिर कहती हैं:

'प्रेगनेंट होने का ये मतलब नहीं कि आप किसी काम को हाथ नहीं लगा सकती. प्रेग्नेंसी के दौरान आसपास के लोग बहुत ओवरप्रोटेक्टिव हो जाते हैं. पर प्रेग्नेंसी में एक्टिव रहना बहुत ज़रूरी है. आपके लिए भी और बच्चे के लिए भी. हां कुछ चीज़ें हैं जिन्हें आपको अवॉयड करना चाहिए.'

क्या हैं वो काम?

भारी सामान उठाना

अब इसका ये मतलब नहीं कि आप सब्जियों का थैला या अपना लैपटॉप बैग नहीं उठा सकतीं. भारी का मतलब भारी. जैसे भरी हुई बाल्टी. आटे चावल की बोरियां, वगैरह. जिससे आपके पूरे शरीर पर जोर पड़े. मना करने के पीछे वजह ये है कि कभी-कभी गर्बभनाल बहुत नीचे की तरफ़ होती है. जिसकी वजह से ब्लीडिंग होने लगती है.

 Image result for pregnant woman

अब इसका ये मतलब नहीं कि आप सब्जियों का थेला या अपना लैपटॉप बैग नहीं उठा सकतीं. (फ़ोटो कर्टसी: Pixabay)

फर्नीचर एक जगह से दूसरी जगह खिसकाना

भारी सामान उठाने के साथ-साथ, खिसकाने से भी परहेज़ करिए. प्रेग्नेंसी के दौरान आपकी पीठ पर पहले से काफ़ी स्ट्रेन पढ़ता है. इसलिए औरतों को इस दौरान पीठ के दर्द की भी शिकायत रहती है. अब इसके ऊपर आप भारी सामान खिसकाएंगी तो स्ट्रेन और ज़्यादा बढ़ जाएगा. नतीजा चोट. पर अगर आप कुछ खिसका ही रही हैं तो याद से अपने घुटनों को मोड़ लीजिए और पीठ को एकदम सीधी रखिए.

बिल्ली का मल नहीं छूना चाहिए

अगर आपके घर में पालतू बिल्ली है तो उसके मल की सफ़ाई का काम आपको छोड़ना पड़ेगा. टोक्सोप्लास्मोसिस (Toxoplasmosis) एक इन्फेक्शन होता है जो बिल्लियों से फैलता है. ख़ासतौर पर उन बिल्लियों से जो घर के बाहर जाती हैं. ये पैरासाइट से होने वाला इन्फेक्शन है. इस इन्फेक्शन का उनपर तो ज़्यादा असर नहीं पड़ता. पर बिल्ली के मल से ये इंसानों में फैल सकता है. अगर प्रेग्नेंसी के दौरान आपको ये इन्फेक्शन हो जाता है तो आपके बच्चे को भी ये इन्फेक्शन होने का ख़तरा रहता है. इसका बच्चे पर काफ़ी ख़तरनाक असर पड़ता है. आखें और ब्रेन डैमेज हो सकते हैं. इलसिए बेहतर है आप अपनी बिल्लियों का मल किसी और को साफ़ करने दीजिए.

Image result for pregnant woman picking box

आपको आपकी बिल्ली चाहे कितनी प्यारी हो, उसके मल से बचकर. (फ़ोटो कर्टसी: Pixabay)

जिन चीज़ों में केमिकल हैं उनसे दूर रहिए

घर की सफ़ाई में हम काफ़ी ऐसे प्रोडक्ट्स इस्तेमाल करते हैं जिनमें केमिकल होते हैं. कुछ में कम तो कुछ में ज़्यादा. पर पेस्टीसाइड वगेरह में केमिकल की मात्रा ज़्यादा रहती है. इनमें फ्यूम भी होते हैं. जो आपकी सांस के ज़रिए शरीर के अंदर जाते हैं. नतीजा? ये आपके बच्चे के संपर्क में आते हैं उसका असर उनके दिल और हाथ-पैरों पर पड़ता है.

डॉक्टर अनुराधा कपूर कहती हैं:

'पेट में बच्चे के ऑर्गन्स बन रहे होते हैं. इस समय हम मां को कुछ दवाइयों और केमिकल से दूर रखते हैं.'

आप चाहे तो सफ़ाई के लिए कुछ नेचुरल चीज़ों का इस्तेमाल कर सकती हैं. जैसे विनेगर, बेकिंग सोडा, और नींबू.

इन चीज़ों के अलावा प्रेग्नेंसी में सीढ़ीयां चढ़ना और झुकने पर भी पाबंदी लगा दी जाती है. पर इसपर डॉक्टर्स का कहना है कि ये ख़तरनाक नहीं है. आप सीढ़ीयां भी चढ़ सकती हैं और झुककर काम भी कर सकती हैं.

प्रेग्नेंसी में ज़रूरी है आप अपनी हेल्थ का ध्यान रखिए. पर हर कही-सुनी बात पर यकीन मत करिए.

पढ़िए: क्या गर्भवती महिला के नाइट शिफ्ट करने से बच्चा गिर जाता है?

 

लगातार ऑडनारी खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करे      

Copyright © 2019 Living Media India Limited. For reprint rights: Syndications Today. India Today Group