जीरो फिल्म का पोस्टर: फिल्म की हिरोइनों का लुक आ गया, उम्मीद है उनका रोल भी अच्छा हो

शाहरुख के ऑरा के इर्द-गिर्द ही लगती है ये फिल्म

आपात प्रज्ञा आपात प्रज्ञा
नवंबर 01, 2018
ज़ीरो फिल्म के रिलीज़ हुए दो पोस्टर्स. फोटो क्रेडिट- ट्विटर

31 अक्टूबर 2018 की रात बहुप्रतिक्षित यानी मोस्ट अवैटेड फिल्म 'ज़ीरो' का पोस्टर रिलीज़ हुआ. बहुप्रतिक्षित इसलिए क्योंकि इसकी घोषणा के बाद से ही ये चर्चा का विषय बनी हुई है. लोगों में बेसब्री से इसका इंतज़ार है. फिल्म के पोस्टर को प्रोडक्शन हाउस 'कलर येलो प्रोडक्शंस' ने ट्विटर पर रिलीज़ किया. 'ज़ीरो' फिल्म के दो पोस्टर रिलीज़ किए गए. एक पोस्टर में शाहरुख खान और कटरीना कैफ हैं. तो वहीं दूसरे पोस्टर में शाहरुख और अनुष्का नज़र आ रहे हैं. सबसे पहले तो इन दो पोस्टर्स पर नज़र डालिए. पहले पोस्टर के लिए प्रोडक्शन हाउस ने लिखा- 'आधी रात छिछोरापंती नहीं कर रहे, पेश है बऊआ सिंह का बड़ा ही सुंदर चित्र' 

इसके बाद जो दूसरा पोस्टर रिलीज़ हुआ उसके बारे में लिखा- 'भाई इस बऊआ सिंह की हवा तो ज़ोरदार है.' -

फिल्म 'ज़ीरो' को 'आनंद एल. राय' ने निर्देशित किया है. आनंद इससे पहले 'रांझणा', 'तनु वेड्स मनु'और 'तनु वेड्स मनु रिटर्न्स' जैसी फिल्में डायरेक्ट कर चुके हैं. इस फिल्म को 'कलर येलो प्रोडक्शंस' 'रेड चिलीज़ इंटरटेंमेंट' के साथ मिलकर प्रोड्यूस कर रहा है. 21 दिसंबर 2018 को ये रिलीज़ हो रही है.

4-1_110118053024.jpgआनंद एल राय ने रांझणा निर्देशित की थी. फोटो क्रेडिट- फेसबुक/आनंद एल. राय

अब बात करते हैं पोस्टर के बारे में-

दोनों पोस्टर्स को देखकर लगता है कि ये फिल्म फिर से एक स्टार के ऑरा के इर्द-गिर्द बनी है. जैसी शाहरुख खान की फिल्में रही हैं. या किसी भी बड़े स्टार की फिल्में. इन फिल्मों में हीरो केंद्रीय किरदार होता है. बाकी सारे उसे सपोर्ट करने के लिए साइड रोल्स में, इन सबका काम ही हीरो की छवि के प्रभाव में गुम हो जाना होता है. पूरी फिल्म 'आई, मी और मायसेल्फ' के बट्टे को साथ लेकर चलती है. हीरो, उसकी कहानी, उसका सुंदर होना, बलशाली होना, मजबूत होना, प्यार करना,मुश्किल में पड़ना, सब मुश्किलों को पार करना, ये होना, वो होना, हीरो, हीरो और केवल हीरो... 

2_110118052744.jpgशाहरुख खान की अधिकतर फिल्में उन्हीं के किरदार के चारों तरफ घूमती हैं. फोटो क्रेडिट- Reuters

'ज़ीरो' भी इस ही ढर्रे पर बनी फिल्म लगती है. शाहरुख खान और उनके इर्द-गिर्द बनी फिल्म. फिल्म के पोस्टर्स और अब तक की जानकारी से तो ये ही लगता है कि शाहरुख सेंट्रल कैरेक्टर हैं और कटरीना और अनुष्का उनके समर्थन के लिए रखे गए. हो सकता है कि फिल्म में उनका किरदार कुछ अलग हो लेकिन अब तक ये नहीं लगता. कटरीना बड़ी हीरोइन बनी हैं तो अनुष्का व्हीलचैयर पर हैं. फिल्म में दोनों ही हीरोइन स्टारपावर की तरह इस्तेमाल की गई प्रतीत होती हैं. जब इनका करियर रिव्यू किया जाएगा तो शायद ही इन्हें 'ज़ीरो' के लिए याद किया जाए. एक्ट्रेस को लेकर वही घिसी-पिटी सोच अपनाई गई है फिर से.  

1_110118052845.jpgअनुष्का, कटरीना और शाहरुख खान इससे पहले 'जब तक है जान' फिल्म में एक साथ नज़र आए थे. फोटो क्रेडिट- फेसबुक

शाहरुख ने ठिगने आदमी का रोल किया है. इसके लिए उनकी तारीफ की जानी चाहिए. अपने किरदारों के साथ वो प्रयोग कर रहे हैं.

4 फीट के आदमी का रोल करना आसान नहीं है. 'गेम ऑफ थ्रोन्स' में टिरीयन लैनिस्टर के रोल ने बौने होने के टैबू को खत्म करने की कोशिश तो की पर भारत में वो सीमित ऑडियंस तक ही पहुंच पाई. ये रोल पीटर डिंक्लेज ने निभाया था.

3_110118053001.jpgपीटर डिंक्लेज ने टिरियन लैनिस्टर का किरदार निभाया था. फोटो क्रेडिट- Reuters

अब शाहरुख खान एक बौने इन्सान का किरदार निभा रहे हैं. हो सकता है उनका ये किरदार समानता की तरफ एक कदम हो. बौने लोगों के प्रति हमारा जो रूढ़िवादी नज़रिया है उसमें थोड़ा बदलाव आ सके क्योंकि पोस्टर्स को देखकर आपको बौने आदमी पर दया नहीं आती बल्कि वो सामान्य लगता है. कम हाइट होने को लेकर जो पूर्वाग्रह है वो हमारे मन में पुनर्जीवित नहीं होता. न ही पोस्टर्स को देखकर हम बौने आदमी का मज़ाक उड़ाने की कोशिश करते हैं. कर ही नहीं पाते क्योंकि वो सुंदर लगता है न कि मज़ाक उड़ाए जाने लायक. हां, ये एक कमी हो सकती है कि पोस्टर में दिखाया बौना आदमी थोड़ा-सा आसामान्य लगता है. जिस इन्सान की हाइट कम होती है सामान्यतः उसकी हड्डियां मोटी होती हैं, नाक फूली सी होती है पर शाहरुख खान एकदम बढ़िया दिखते हैं. खूबसूरत दिखते हैं. 

 

 

ऑडनारी से चिट्ठी पाने के लिए अपना ईमेल आईडी बताएं!

ऑडनारी से चिट्ठी पाने के लिए अपना ईमेल आईडी बताएं!

लगातार ऑडनारी खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करे      

Copyright © 2018 Living Media India Limited. For reprint rights: Syndications Today.