एक ऐड ऐसा भी छपा जिसमें औरत गैस सिलेंडर से खाना नहीं बना रही, उसे कंधे पर उठा रखा है

तमाम विज्ञापनों के बीच इसे देखना सुखद है.

ऐड से परेशान आप भी हुए ही होंगे. वीडियो वगैरह के बीच में ऐड चल जाएं तो कितनी कोफ़्त होती है. टीवी वगैरह के ऐड भी बोरिंग होते हैं. एक जैसे. कुछ नया नहीं. अखबारों के ऐड तो और भी माशाअल्लाह. जब से अखबार पढ़ना सीखा, तब से उनके ऐड वैसे के वैसे हैं.

इसीलिए जब अखबार में ये ऐड दिखा तो मन खुश सा हो गया.

cylinder_750x500_062619114611.jpgये ऐड काफी हटके है.

इस ऐड में एक लड़की गैस का सिलिंडर उठाए हुए दिख रही है. एक गैस की ब्रैंड का ऐड है. आम तौर पर कुकिंग गैस, या किचन से जुड़ी चीज़ों के ऐड में लड़कियां या महिलाएं खाना बनाते या उससे जुड़े काम करती ही दिखाई जाती हैं. अगर ये एक टिपिकल ऐड होता, तो इसमें शायद महिला हाथ में कलछी लेकर स्टोव के पास खड़ी होती, और खुश होकर बताती ये गैस कितनी अच्छी है. लेकिन ये नया ट्विस्ट बेहद खूबसूरत, और बेहद ज़रूरी है.

जब बात बराबरी की होती है तो झट से लोग कह देते हैं, कि बराबरी चाहिए तो इन कामों में भी करो. कौन से काम? खदानों में काम करना, वज़न उठाना. इंजीनियर हैं तो ऑन साइट काम करना. वगैरह वगैरह. जबकि ये भूल जाते हैं लोग कि ईंट भत्तों में तगारी भर भर कर ईंटें ढोने वाली भी महिलाएं होती हैं, और खेती में निराई गुड़ाई से लेकर फसल की सफाई तक में औरतें डट कर काम करती हैं.

खैर, हम ये ज्ञान क्यों ही दें. बात है ये कि इस तरह के ऐड देखना सुकून भरा है. कई जगहों पर सोशल मीडिया में भी कैब्स चलाने वाली महिलाओं के बारे में पोस्ट देखने को मिलती है. जबकि पहले ये काम सिर्फ मर्दों का माना जाता था. कुकिंग गैस के ऐड में सिलिंडर डिलीवर करती हुई महिला अपने आप में सौ ज्ञान भरी डाक्यूमेंट्रीज़ पर भारी है. उनसे कहीं ज्यादा असर करने वाली है.

 

 

 

लगातार ऑडनारी खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करे      

Copyright © 2019 Living Media India Limited. For reprint rights: Syndications Today. India Today Group