एमपी से डांसिंग अंकल के बाद अब देखिए दादीजी का टाइपिंग टैलंट

मध्य प्रदेश की इन दादीजी का जवाब नहीं.

फोटो क्रेडिट- वीरेंद्र सहवाग, ट्विटर

‘बेटा एक गिलास पानी ला दे.’

‘क्या यार मम्मी? ये दादी खुद तो बैठी रहती हैं, मुझे सारा दिन परेशान करती हैं.’

हममें से हर किसी ने अपने घर में दादा-दादी के लिए कभी-न-कभी ऐसा बोला होगा. खैर, हमारे दादा-दादी अक्सर हमें मेहनत करने के लिए बोलते हैं. और हम बस यूं ही टाल जाते हैं. लेकिन इस वीडियो को देख कर आप अपने दादा-दादी की बात को टाल नहीं पाएंगे. वो क्या है न कि सबसे अच्छी सीख आप किसी को बोलकर नहीं, अपने व्यवहार से दे सकते हैं. इस वीडियो में जो महिला हैं वो हमारी दादी की उम्र के लगभग होंगी. ये बैठे-बैठे हर बार ऑर्डर नहीं देतीं बल्कि इस उम्र में भी पूरी मेहनत के साथ काम करती हैं..

यह वीडियो वीरेंद्र सहवाग ने ट्विटर पर शेयर किया. सहवाग ने लिखा- ‘यह मेरे लिए सुपरविमन हैं. ये मध्य प्रदेश के सीहोर जिले में रहती हैं. युवा पीढ़ी इनसे बहुत कुछ सीख सकती है, सिर्फ तेजी ही नहीं बल्कि लगन और सीख कि कोई भी काम छोटा नहीं होता. कोई भी उम्र कुछ सीखने और करने के लिए ज़्यादा नहीं होती. प्रणाम!’ 

 

ऑडनारी से चिट्ठी पाने के लिए अपना ईमेल आईडी बताएं!

ऑडनारी से चिट्ठी पाने के लिए अपना ईमेल आईडी बताएं!

लगातार ऑडनारी खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करे      

Copyright © 2018 Living Media India Limited. For reprint rights: Syndications Today.