सारा अली खान के इस 'सेक्सी' फोटोशूट से आपके होश उड़ जाएंगे, ये है ही इतना भद्दा

सारा अली खान की पढ़ाई-लिखाई, नवाबी, किस काम की?

फिल्मफेयर नाम की मैगजीन है. नाम काफी है बॉलीवुड की दुनिया में. इसके कवर पर आना बड़ी बात होती. ख़ास तौर पर नए स्टार्स के लिए. इन्हीं में से एक हैं सारा अली खान. सैफ अली खान और अमृता सिंह की बेटी. डेब्यू किया था केदारनाथ फिल्म से. सुशांत सिंह राजपूत के अपोजिट. तब से सिम्बा में भी नज़र आ चुकी हैं. इनको कवर पर लेते हुए फिल्मफेयर ने लिखा, ‘अ स्टार इज बॉर्न’. यानी एक सितारा पैदा हो गया है.

इस पर हम बहस नहीं करेंगे कि सारा अली खान को फिल्मफेयर के कवर पर आने का हक है या नहीं. या फिर नेपोटिज्म ने उनको कितनी मदद पहुंचाई है. ये अनंत काल तक चलने वाली बहस है.

जिस पर बात इस वक़्त बेहद जरूरी है वो इनके कवर का शूट है. ये शूट निहायत ही इंसेंसिटिव और भद्दा है. ये जो शूट हुआ है, ये कीनिया (Kenya) के मसाई मारा नेशनल रिजर्व की तस्वीरें हैं. कीनिया एक पूर्वी अफ्रीकन देश है. मसाई मारा इलाका प्रकृति और जानवरों के मामले में बेहद समृद्ध है. शेर, चीते, गैंडे, हाथी, लकड़बग्घे, सब यहां पाए जाते हैं. यहां के नेशनल पार्क्स टूरिस्ट्स के लिए बेहद आकर्षक जगह हैं. और वहां की सरकार की कमाई का एक बहुत बड़ा जरिया भी.

 

masai_750x500_022719013111.jpgमसाई जनजाति की कई उपजातियां भी हैं. उनमें से एक की पारंपरिक वेशभूषा ये है. तस्वीर: विकिमीडिया

लेकिन इस फोटो शूट में, जितने भी ट्वीट हुए हैं, उनमें कहीं भी इसकी जानकारी नहीं दी गई है. केवल दो तस्वीरों में सारा को वहां की नेटिव जनजाति के लोगों के साथ खड़ा कर दिया गया है. ये लोग मसाई जनजाति के हैं. लगभग सौ साल पहले जब ब्रिटिश लोगों ने उनकी ज़मीन पर कब्जा किया, तब उन्हें उनके ही घरों से धक्के मार कर निकाल दिया गया था. बिलकुल वैसे जैसे अमेरिका के नेटिव लोगों को ग़ुलाम बना लिया गया था और उनकी जमीन छीन ली गई थी. लेकिन मसाई लोगों के साथ उनकी अपनी सरकार ने भी कुछ ख़ास व्यवहार नहीं किया. पार्क्स और रिजर्व बनाने के लिए मसाई लोगों की ज़मीन ली गई. उनको खेती बाड़ी छोड़कर आराम की जिंदगी जीने के लिए प्रोत्साहित किया गया लेकिन उन्होंने छोड़ा नहीं उसे. तंजानिया और कीनिया दोनों देशों के रिजर्व्स और पार्क्स में उन्होंने जानवर चराने की अनुमति मांगी है. लोगों का दखल उन्हें कम बर्दाश्त होता. जंगली जानवरों के साथ ख़ुशी ख़ुशी रहते हैं.

ये सारी बातें आपको फिल्मफेयर के इस शूट में नहीं दिखेंगी. दिखेंगी तो सिर्फ सारा अली खान. जिनको sun-kissed, और stunning कहा जा रहा है. उनके साथ मसाई जनजाति के लोगों में से एक की तस्वीर लगाईं गई है. ये तस्वीर ऐसी है मानो सारा अली खान को शूट किया गया हो. उसके बाद उनकी फोटो की एडिटिंग के समय मसाई जनजाति के इस व्यक्ति को कॉपी पेस्ट कर दिया गया हो. इस फोटो में ये चीज़ साफ़ नज़र आ रही है. यहां तक कि सारा के पीछे खड़े इस व्यक्ति की परछाईं तक नहीं है धूप में. हालांकि शूट का विडियो सामने आने के बाद ये पता चला कि फोटो में दिख रहा ये व्यक्ति उछल रहा है. वो विडियो देखना और भी ज्यादा शर्मसार कर देने वाला है.

kenya-sara_750x500_022719013304.jpgतस्वीर: फिल्मफेयर

ये एक बेहद इंसेंसिटिव, और जाहिल कमअक्ली का दस्तावेज है. कल्याण जूलर्स के एक एड में ऐश्वर्या राय भी इसी तरह के फोटो में नज़र आई थीं. जहां राजसी कपड़ों में सजी धजी लश्कारे मारती ऐश्वर्या के सर के पास एक भुखमरी का शिकार सांवला बच्चा छत्र लेकर खड़ा था. इस पर बहुत बवाल मचा. वो एड चेंज करके चलाई गई.

aish_750x500_022719013329.jpgतस्वीर: ट्विटर

लेकिन लगता है दुनिया ने किसी भी चीज़ से कुछ भी ना सीखने की कसम उठा रखी है. यहां सारा अली खान फोटो की सब्जेक्ट हैं. वो फोकस हैं. बाकी सब बैकग्राउंड नॉइज़ है. और इस बैकग्राउंड में एक जनजाति के व्यक्ति की तस्वीर को एक प्रॉप की तरह इस्तेमाल करना परले दर्जे की जाहिली और काइयांपन है. पुराने तस्वीर खींचने वाले अपने स्टूडियो में एक खंभा रखते थे, छोटा सा. उसके ऊपर गुलदस्ता रखा जाता था. उसके बगल में खड़े होकर लड़कियां अपनी शादी के लिए भेजी जाने वाली प्रपोजल तस्वीरें खिंचवाती थीं. इस पूरे फोटो शूट में इतिहास की सबसे महत्वपूर्ण जनजातियों में से एक के पारंपरिक परिधान और उसके लोगों को उस खंभे जैसा बनाकर छोड़ दिया गया है.

सारा अली खान ‘राजसी खून’ वाली हैं. उनके पिता ‘नवाब’ हैं. उनको नहीं मालूम होगा कि बैकग्राउंड में धकेल दिया जाना क्या होता है. लेकिन अगर पढ़-लिख कर भी उन्होंने ये नहीं समझा कि जो वो कर रही हैं वो गलत है, या ये तस्वीरें आपत्तिजनक हैं, तो उनकी पढ़ाई किसी काम की नहीं है. ये फोटो खींचने वाले किसी काम के नहीं है. ये फिल्मफेयर की एडिटिंग करने वाले किसी काम के नहीं हैं.        

 

 

 

लगातार ऑडनारी खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करे      

Copyright © 2019 Living Media India Limited. For reprint rights: Syndications Today. India Today Group