डिलीवरी के बाद करीना कपूर ने इस एक्सरसाइज़ से अपना वज़न घटाया

किसी भी उम्र की हों, ये आप भी घर पर कर सकती हैं

सरवत फ़ातिमा सरवत फ़ातिमा
नवंबर 26, 2018
पिलाटेस करने के लिए आपको मशीन की ज़रुरत नहीं पड़ेगी.

जब करीना कपूर खान मां बनीं तो सबको इक चीज़ में बड़ी दिलचस्पी थी. उनके वेट लॉस में. लोगों से ये हज़म नहीं हो रहा था कि उन्होंने इतना जल्दी अपना पोस्ट प्रेगनेंसी वेट कैसे लूज़ किया. इसका जवाब भी सबको जल्दी मिल गया. करीना जिम काफ़ी रेगुलरली जाती हैं. वहां जमकर एक्सरसाइज़ भी करती हैं. एक्सरसाइज़ करते हुए उनका विडियो अक्सर सोशल मीडिया पर छाया रहता है. हाल-फ़िलहाल में भी उनकी ट्रेनर नम्रता पुरोहित ने एक ऐसा ही विडियो इंटरनेट पर डाला है.

इसमें जो एक्सरसाइज़ करीना कर रही हैं उसे पिलाटेस कहते हैं. और ये इसी एक्सरसाइज़ की बदौलत है कि करीना ने प्रेगनेंसी के बाद अपना वेट इतना जल्दी लूज़ किया. वो भी हेल्दी तरीके से.

तो आख़िर ये पिलाटेस होता क्या है?

शाश्वत फ़िटनेस फर्स्ट जिम में ट्रेनर हैं. वो कहते हैं:

"पिलाटेस एक ख़ास तरह की एक्सरसाइज़ होती है. इसे करने से शरीर में ऐसा समझिए कि दम आता है. ताकत बढ़ती है. ख़ासतौर पर पेट के हिस्से में. इससे आपकी फ्लेक्सिबिलिटी भी बढती है. ज़ाहिर सी बात है इसका असर आपकी सेहत पर भी पढ़ता है. हेल्थ अच्छी रहती है."

बाकी एक्सरसाइज़ के मुकाबले, पिलाटेस करते समय किसी भी तरह की चोट लगने का डर भी काफ़ी कम होता है. इसलिए ये काफ़ी सेफ़ होती है.

pilates-1_112618090629.jpgइसे करने से शरीर में ऐसा समझिए कि दम आता है.(फ़ोटो कर्टसी: Shutterstock)

पिलाटेस करने के क्या फ़ायदे हैं?

क्योंकि पिलाटेस से आप अपने शरीर के कुछ स्पेसिफ़िक अंगों से वेट लूज़ कर सकते हैं. ख़ासतौर पर आपका पेट, पैर, और शरीर का निचला हिस्सा. पर सिर्फ़ पिलाटेस करने से आपका वेट लूज़ नहीं होगा. उसके साथ-साथ आपको एक अच्छी डाइट भी लेनी पड़ेगी. और ज़्यादा से ज़्यादा वॉक भी करनी पड़ेगी.

प्रेग्नेंसी के बाद अक्सर कई औरतों के पेट का निचला हिस्सा काफ़ी बढ़ जाता है. पिलाटेस क्योंकि पेट की मसल्स पर काम करता है, इसलिए पोस्ट-प्रेग्नेंसी वेट लूज़ करने का ये एक अच्छा तरीका है. साथ ही पीठ के ऊपरी हिस्से और सीने की मांसपेशियों पर भी काम करता है. नई माओं को अक्सर पीठ और सीने में दर्द रहता है. ये बच्चे को दूध पिलाने और गोद में उठाने की वजह से होता है.

यही नहीं. पिलाटेस पीरियड के दौरान करने के लिए एक अच्छी एक्सरसाइज़ है. पीरियड्स के दौरान पेट और उसके निचले हिस्से में दर्द रहता है. पिलाटेस उससे निजात पाने में काफ़ी असर करता है. एक्सरसाइज़ के दौरान जब पेट के निचले हिस्से की मासपेशियां खिंंचती हैं तो वो मजबूत होती हैं. साथ ही सांस के पैटर्न की वजह से बॉडी रिलैक्स होती है.

perod-cramps_112618090816.jpgपिलाटेस पीरियड के दौरान करने के लिए एक अच्छी एक्सरसाइज़ है.

अब सबसे ज़रूरी बात.

आप पिलाटेस कैसे कर सकती हैं?

अगर आप जिम जाती हैं तो बढ़िया. पर अगर नहीं तो परेशान मत होइए. पिलाटेस आप घर पर भी कर सकती हैं. वो भी बिना किसी मशीन के.

चार आसान एक्सरसाइज़ हैं:

1. ज़मीन पर लेट जाइए. दोनों हाथों को अपने अगल-बगल रख लीजिए. अब घुटनों को मोड़ लीजिए. धीरे से अपने बैक पर ज़ोर डालते हुए अपने पेट को हवा में उठाइए. कुछ सेकंड होल्ड करके वापस ज़मीन पर ले आइए. इसे 15 बार करिए.

2. दूसरी एक्सरसाइज़ के लिए ज़मीन पर सीधे लेट जाइए. हाथों को अपने अगल-बगल रख लीजिए. अब पैरों को ऐसे चलाइए जैसे साइकिल के पेडल चला रही हों. उसे 15 बार करिए.

3. अगली एक्सरसाइज़ के लिए अपने साइड पर लेट जाइए. हाथ मोड़कर अपने सर पर रखिए. जो पैर नीचे है उसे हल्का सा मोड़ लीजिए, जो पैर ऊपर है उसे धीरे-धीरे ऊपर उठाइए. फिर नीचे लाइए. ऐसा 15 बार करिए.

4. आखिरी एक्सरसाइज़ के लिए पेट के बल लेट जाइए. अपने हाथों को मोड़ लीजिए. अब अपने पेट पर ज़ोर देकर अपने पैरों को हवा में उठाइए. शरीर का भार आपके पेट और बैक पर पड़ना चाहिए. पैरों के साथ-साथ हाथों को भी उठाइए. ये एक्सरसाइज़ 15 बार करिए.

पिलाटेस आसान एक्सरसाइज़ है जिसे आप घर पर कर सकती हैं. तो ट्राई करिए और असर देखिए.

 

ऑडनारी से चिट्ठी पाने के लिए अपना ईमेल आईडी बताएं!

ऑडनारी से चिट्ठी पाने के लिए अपना ईमेल आईडी बताएं!

लगातार ऑडनारी खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करे      

Copyright © 2018 Living Media India Limited. For reprint rights: Syndications Today.