बहन के प्रेमी को लिंच करने वाले निर्मम हत्यारों से मिलिए

लड़की के भाइयों ने उसके प्रेमी की पीट-पीटकर हत्या कर दी.

सुमित सिंह सुमित सिंह
अगस्त 26, 2019

औरत की तरफ़ से अक्सर आदमी फ़ैसला लेता है. ये मान लिया जाता है कि इस फ़ैसले में औरत का फ़ैसला भी शामिल ही होगा. आदमी हमेशा से तय करता आया है कि औरत के लिए क्या अच्छा होगा. औरत का प्रेम भी आदमी ही तय करता है. पंजाब के गुरदासपुर में भाइयों ने अपनी बहन के लिए बहुत कुछ तय किया था. और जब सबकुछ वैसा नहीं हुआ जैसा तय था तो  उन लोगों ने हत्या कर दी. उस लड़के की हत्या जो उनकी बहन से प्यार करता था. जिससे उनकी बहन प्यार करती थी.

# हुआ क्या

यूसुफ मसीह उर्फ लक्की गुरदासपुर के तुंग का रहने वाला था.यूसुफ टाइल बनाने वाले एक भट्ठे में काम करता था. रीना (बदला हुआ नाम) भी इसी गांव की है. दोनों एक दूसरे के पड़ोसी थे. दो साल पहले दोनों में प्यार हुआ. लेकिन रीना के घरवाले इस रिश्ते के कतई ख़िलाफ़ थे. रीना के लाख कहने के बावजूद परिवार यूसुफ के साथ रिश्ते के लिए तैयार नहीं था. लेकिन रीना और यूसुफ घरवालों से छिपकर मिलते रहे.

इसी तरह दोनों गुज़रे शनिवार यानी 24 अगस्त को भी मिली. यूसुफ रीना से मिलने के लिए उसके घर गया. घरवालों को दोनों के मिलने की आहट मिल गई. लड़की के भाइयों ने यूसुफ को पकड़कर पीटना शुरू किया. रात भर पीटते रहे. लोग बता रहे हैं कि गांव वालों ने शोर सुनकर रीना के भाइयों और दोस्तों को रोकने की भी कोशिश की. लेकिन उन्हें भी धमकाकर वापस भेज दिया गया. सुबह तक यूसुफ की मौत हो चुकी थी. गांववालों ने पुलिस को ख़बर की. पुलिस ने आकर लड़की के घर से यूसुफ की लाश बरामद की. लड़की और उसकी मां को पुलिस ने अरेस्ट कर लिया. दोनों पर हत्या का केस दर्ज किया गया है. लड़की के भाई और उसके साथी फ़रार हैं.

# लड़के के घरवाले कुछ और कह रहे हैं

यूसुफ के घरवाले इस बात को नहीं मान रहे कि यूसुफ रात को रीना से मिलने गया था. यूसुफ के घरवालों ने पुलिस में जो शिकायत दर्ज कराई है उसमें अपहरण और हत्या का मामला है. उनका कहना है-

शनिवार 24 अगस्त को दोपहर तीन बजे गांव वरसोला में मेला देखने जा रहे यूसुफ को हरदोछन्नी बाईपास से किडनैप किया गया. इसके बाद आरोपित उसे अपने घर ले आए. देर रात तेजधार हथियारों से उस पर हमला कर दिया. रात एक बजे तक यूसुफ के चिल्लाने की आवाज सुनकर गांव के लोग पहुंचे तो आरोपितों ने हथियार दिखाकर उन्हें भगा दिया. रात को ही जब आरोपित शव को ठिकाने लगाने की योजना बना रहे थे तो किसी ने पुलिस को सूचित कर दिया.

# दो महीने पहले घर से भागे थे दोनों

दो महीने पहले यूसुफ और रीना घर से भागकर श्रीनगर चले गए थे. तब भी लड़की का परिवार ही इन्हें श्रीनगर से ढूंढ़कर वापस लाया था. लड़की के परिवार ने मामला पंचायत में उठाया था. पंचायत में लड़की के परिवार ने कहा था कि यूसुफ को छह महीने के लिए गांव से बाहर भेज दिया जाए. इस बीच वे लड़की की शादी कहीं दूसरी जगह करवा देंगे. पंचायत में समझौता हुआ. समझौते के बाद यूसुफ का परिवार गांव छोड़कर गुरदासपुर के प्रेम नगर में किराए के एक मकान में रहने लगा. परिवार ने गांव तो छोड़ दिया, लेकिन यूसुफ और रीना का प्रेम प्रसंग पहले ही तरह चलता रहा.

# पुलिस का क्या कहना है

थाना सदर प्रभारी मक्खन सिंह ने स्थानीय मीडिया को बताया कि आरोपितों के घर के एक कमरे से यूसुफ का शव बरामद हुआ है. लड़की और उसकी मां को गिरफ्तार कर लिया है. लड़की के भाई और एक अन्य आरोपित फरार हैं. सभी आरोपितों पर हत्या का केस दर्ज किया गया है.

 

ये भी देखें:

 

लगातार ऑडनारी खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करे      

Copyright © 2019 Living Media India Limited. For reprint rights: Syndications Today. India Today Group