'बलात्कार कर के, मुड़ी काट के फेंक दिहिस': रेप कर हत्या की, फिर चेहरे पर तेज़ाब डाल गला दिया

वो शब्द जो कोई बाप अपनी बेटी के लिए कहने को मजबूर नहीं होना चाहिए

गया. बिहार का एक जिला. लोग यहां पिंडदान के लिए आते हैं. यहां से एक खबर आ रही है. एक सोलह साल की लड़की की हत्या कर दी गई है. लड़की पिछले दस दिन से गायब थी.

गया के पटवाटोली में बुनकरों का परिवार रहता है, जिनकी बेटी 28 दिसंबर को गायब हो गई. उनके परिवार के करीबी व्यक्ति ने बात की ऑडनारी से.

'28 को लड़की गायब हुई थी. शाम 6 बजे के आस पास. घरवालों ने हर जगह ढूंढा. रिश्तेदारों के पास भी देखा. कहीं नहीं मिली. चौथे दिन थाने में गए. लिखित में शिकायत दर्ज कराई. कहा प्राथमिकी दर्ज करिए. पुलिस ने नहीं की. लोकल मीडिया ने दबाव डाला तो FIR हुई. उसके दो दिन बाद बक्सरियाटोली के पास झाड़ियों में लड़की की लाश मिली. सिर धड़ से अलग कर दिया गया था. पहचान छुपाने के लिए सिर और चेहरे पर एसिड डाल दिया गया था. पूरी चमड़ी और मांस गल गया था, सिर्फ हड्डियां दिखाई दे रही थीं. पुलिस लाश को पोस्टमोर्टेम के लिए ले गई. उसके बाद से लिखित में कुछ भी नहीं मिला है. पीड़ित परिवार इतना गरीब है कि रोज की रोटी जुटाना भी मुश्किल होता है. उनको दुरदुरा दिया गया था हॉस्पिटल में. अभी तक पोस्टमोर्टेम की रिपोर्ट नहीं मिली है.'

anjana_750x500_010919111848.jpgबच्ची की हत्या को लेकर पुलिस भी अभी कुछ बता नहीं पा रही है

लड़की का नाम प्रतिमा* बताया जा रहा है. प्रतिमा के पिता ने मीडिया से बातचीत में दैनिक इंडिया नाम के लोकल न्यूज चैनल को बताया कि वो पांच रूपए लेकर कुछ खरीदने निकली थी. उसके बाद ही गायब हो गई. पिता ने ही बताया कि वो पढ़ती भी थी और मां के साथ काम करने भी जाती थी. आंखों में आंसू भरे पिता ने मीडिया को बाईट देते हुए कहा, 'बलात्कार कर के, मुड़ी काट के फेंक दिहिस'.

बुनियादगंज थाने में ये मामला दर्ज हुआ है. वहां हमने बात की तो मनोज कुमार ने हमें इस मामले के बारे में तफ़सील से बताया. वो इस थाने में सब इंस्पेक्टर हैं. उन्होंने कहा,

'इस मामले में अभी कुछ खास जानकारी नहीं मिली है. FIR करने में देरी वाली बात पुलिस की तरफ से नहीं हुई. पटवा समाज के नेता ने पुलिस से कहा कि हमारे समाज में ऐसे बच्चे चले जाते हैं फिर एक दो दिन में आ जाते हैं. कहा एक दो दिन देख लेते हैं. तो हमने कहा देख लीजिए अगर ये सही लगता है तो. इस बात कि हमारे पास रिकॉर्डिंग भी है. उसके बाद जब लड़की के पिता आए तो FIR कर दी गई. हमने उनसे पूछा कि क्या लड़की के पास कोई मोबाइल था, ना में जवाब आया. पूछा किसी लड़के से बातचीत का कोई अता-पता? ना में जवाब आया. मैं भी वहीं था जब बॉडी मिली. उसका शरीर देखने से ऐसा नहीं लग रहा था कि उसका रेप किया गया है. बाकी पोस्ट मोर्टेम में पता चलेगा. पदाधिकारी भेजेंगे अब दुबारा. कल डॉक्टर साहब थे नहीं तो जांच का कुछ पता नहीं चल पाया'.

bun-1_750x500_010919111945.jpgबुनियादगंज थाने में दर्ज मामले में अभी पोस्टमॉर्टेम रिपोर्ट आने के बाद ज्यादा जानकारी सामने आएगी.

मनोज कुमार ने हमें ये भी बताया कि पुलिस लड़की के घरवालों के पास बयान लेने दो-तीन बार गई लेकिन हर बार उन्हें लौटा दिया गया.

इस मामले को लेकर लोग कैंडल मार्च निकाल रहे हैं. कल भी निकाला था. आज भी निकालेंगे. इस मामले में आगे क्या होता है, इसकी अपडेट ऑडनारी पर हम आपको देते रहेंगे.

(*पहचान छुपाने के लिए नाम बदल दिए गए हैं)

 

ऑडनारी से चिट्ठी पाने के लिए अपना ईमेल आईडी बताएं!

ऑडनारी से चिट्ठी पाने के लिए अपना ईमेल आईडी बताएं!

लगातार ऑडनारी खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करे      

Copyright © 2019 Living Media India Limited. For reprint rights: Syndications Today.