प्रेग्नेंसी से जुड़े पांच झूठ जो औरतें अक्सर मान लेती हैं

क्या प्रेग्नेंसी के दौरान सेक्स नहीं करना चाहिए?

सरवत फ़ातिमा सरवत फ़ातिमा
जनवरी 30, 2019
अक्सर प्रेगनेंट औरतों को राय के नाम पर कुछ ऐसी चीज़ें बताई जाती हैं जो सही नहीं होतीं. फ़ोटो कर्टसी: Pi

प्रियंका की शादी को तीन साल हो गए थे. कुछ समय से उसके पीरियड्स नहीं हो रहे थे. प्रियंका को शक था वो प्रेगनेंट है. इसलिए उसने प्रेग्नेंसी टेस्ट लिया. प्रेग्नेंसी टेस्ट पॉजिटिव निकला. जैसे ही प्रियंका के घरवालों को पता चला वो प्रेगनेंट है, लगे नसीहते देने. किसी ने बोला ये मत खाओ. किसी ने बोला वो मत करो. प्रियंका परेशान. सारी नसीहते लेकर वो डॉक्टर के पास पहुंचीं. तब पता चला की 10 में से 8 बातें तो झूठी थीं.

अक्सर प्रेगनेंट औरतों को राय के नाम पर कुछ ऐसी चीज़ें बताई जाती हैं जो सही नहीं होतीं. कई मिथक हैं जो बेहद वाहियात हैं. बेसिर-पैर के. ऐसे ही कुछ मिथकों का भंडाफोड़ हम कर रहे हैं. हमने बात की डॉक्टर अनुराधा कपूर से. वो मैक्स अस्पताल, दिल्ली में स्त्रीरोग विशेषज्ञ हैं. उन्होंने हमें कई ऐसे मिथकों के बारे में बताया.

झूठ #1: प्रेग्नेंसी के दौरान एक्सरसाइज़ नहीं करना चाहिए

डॉक्टर कपूर कहती हैं:

“ऐसा मानना है कि प्रेग्नेंसी के दौरान एक्सरसाइज़ नहीं करनी चाहिए. पर ये सही नहीं है. उल्टा प्रेगनेंट औरतों को एक्सरसाइज़ करना चाहिए. बहुत हैवी नहीं. मतलब ऐसा नहीं है कि आप बहुत भारी वेट उठाने लगें. पर हां. एक्सरसाइज़ करना ज़रूरी है. अगर कोई डाउट हो तो अपने डॉक्टर से मिल लें. एक्सरसाइज़ से उल्टा बैक पैन नहीं होगा. जो अक्सर प्रेग्नेंसी में होता है. साथ ही नींद न आने की दिक्कत भी ठीक हो जाएगी.”

1_013019074824.jpgएक्सरसाइज़ करना ज़रूरी है. फ़ोटो कर्टसी: Pixabay

झूठ #2: प्रेग्नेंसी के दौरान ‘दो लोगों का खाना खाना चाहिए’

डॉक्टर कपूर इस बात को भी सिरे से ख़ारिज करती हैं. उनके मुताबिक औरतों को प्रेग्नेंसी के दौरान ठूंस-ठूंसकर खिलाया जाता है. कहा जाता है दो लोगों के बराबर खाओ. पर ऐसा नहीं है. आपको बस अपनी डाइट में 300 कैलोरीज़ ज़्यादा बढ़ानी है. कहने का मतलब आप वो चीज़ें ज़्यादा खाइए जिसमें प्रोटीन हो. जैसे अंडा, दूध, मीट, दाल वगैरह.

दो लोगों के हिसाब से नहीं खाना चाहिए. जितना डाइट ठीक रखी जाएगी, उतना अच्छा.

2_013019074908.jpgअपनी डाइट में 300 कैलोरीज़ ज़्यादा बढ़ानी है. फ़ोटो कर्टसी: Pixabay

झूठ #3: प्रेग्नेंसी के दौरान सेक्स नहीं करना चाहिए

डॉक्टर कपूर ने बताया:

“हो सकता है आप सेक्स करते समय बहुत सहज महसूस न करें, पर ये आपके बच्चे के लिए ख़तरनाक नहीं है. आप प्रेग्नेंसी के दौरान सेक्स कर सकती हैं. पर हां. आपकी प्रेग्नेंसी के आखिरी हफ़्तों में सेक्स का असर आपके हॉर्मोन्स पर पड़ता है. आपको कॉन्ट्रैक्शंस हो सकते हैं. यानी यूट्रेस सिकुड़-फैल सकता है. इससे लेबर जल्दी हो सकता है. उसके अलावा सेक्स नॉर्मल है.”

3_013019074945.jpgहो सकता है आप सेक्स करते समय बहुत सहज महसूस न करें. फ़ोटो कर्टसी: Pixabay

झूठ #4: सफ़ेद रंग का खाना खाने से बच्चा गोरा पैदा होता है

निहारिका जब प्रेगनेंट थी तब उसकी सांस ने उसे नारियल खाने को कहा. वजह बताई कि बच्चा गोरा पैदा होगा.

डॉक्टर कपूर कहती हैं:

“ये सच नहीं है. खाने के रंग से बच्चे के रंग का कोई लेना-देना नहीं है. ये जेनेटिक होता है. और कोई चीज़ बच्चे का रंग तय नहीं करती.”

4_013019075018.jpgखाने का आपके बच्चे के रंग से कोई लेना-देना नहीं है. फ़ोटो कर्टसी: Pixabay

झूठ #5: डिलीवरी के समय ही प्रेग्नेंसी के दौरान गेन किया हुआ वेट कम हो जाता है

प्रेग्नेंसी के दौरान औरतें ज़्यादातर 11.5 केजी से लेकर 16 केजी तक वेट गेन करती हैं. पर डेलिवरी के दौरान वो सिर्फ़ 5 केजी ही लूज़ कर पाती हैं. ये बच्चे और प्लेसेंटा का वज़न होता है. प्लेसेंटा एक ऐसा ऑर्गन है जो प्रेग्नेंसी के दौरान गर्भाशय में बनता है. ज़्यादा से ज्यादा शरीर में जो पानी भरा होता है, उसका वेट कम हो जाता है. वैसे प्रेग्नेंसी का पूरा वेट जाने में एक साल का समय तो लग ही जाता है.

5_013019075049.jpgवेट लूज़ करनी की जल्दी मत करिए. फ़ोटो कर्टसी: Pixabay

 

 

लगातार ऑडनारी खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करे      

Copyright © 2019 Living Media India Limited. For reprint rights: Syndications Today. India Today Group