अनचाहे गर्भ से लड़ने के अलावा गर्भनिरोधक गोलियों के ये 5 फ़ायदे हैं

पर बिना डॉक्टर की राय के ये नहीं लेनी चाहिए.

सरवत फ़ातिमा सरवत फ़ातिमा
जनवरी 04, 2019
फ़ोटो कर्टसी: Shutterstock

बर्थ कंट्रोल पिल्स आमतौर पर प्रेग्नेंसी रोकने के लिए खाई जाती हैं. पर सिर्फ़ प्रेग्नेंसी रोकना ही इसका इकलौता फ़ायदा नहीं है. ऐसा हमने सुना था. इसलिए बात पक्की करने के लिए हमने डॉक्टर अनुराधा सेठी से बात की. ये मैक्स हॉस्पिटल, दिल्ली में स्त्रीरोग विशेषज्ञ हैं. वो कहती हैं:

“बर्थ कंट्रोल पिल्स दो तरह की होती है. हॉर्मोनल और नॉन-हॉर्मोनल. मतलब वो जो आपके हॉर्मोन्स में बदलाव लाती हैं और प्रेग्नेंसी रोकती हैं. दूसरा तरीका है कॉन्डम या कॉपर आईयूडी वगैरह. पर जो हॉर्मोनल बर्थ कंट्रोल होती है जैसे पिल्स, उनके और भी फ़ाएदे हैं.”

तो क्या हैं वो फ़ायदे:

1. पीरियड साइकिल ठीक करना

जी लड़कियों, सही पढ़ रही हो. अगर नहीं पता था तो जान लो. बर्थ कंट्रोल पिल्स पीरियड साइकिल भी ठीक करती हैं. डॉक्टर सेठी कहती हैं:

“पीरियड सही टाइम पर न होना हॉर्मोन्स में उथल-पुथल की वजह से होता है. हॉर्मोनल बर्थ कंट्रोल उसे ठीक करता है. ख़ासतौर पर अगर आपको पीरियड के दौरान ज़्यादा ब्लीडिंग होती है या इर्रेगुलर पीरियड्स होते हैं तो बर्थ कंट्रोल पिल्स उसे ठीक कर सकती हैं. ये पीसीओएस यानी पॉलिसिस्टिक ओवरी सिंड्रोम भी ठीक कर सकती हैं.”

2. हॉर्मोनल एकने भी साफ़ करती हैं

हॉर्मोन्स में होने वाली उथल-पुथल न सिर्फ़ पीरियड्स में दिक्कत देती है, बल्कि एकने की भी एक बहुत बड़ी वजह होती है.

डॉक्टर सेठी बताती हैं:

“अगर आप अपने 13 से 19 साल के बीच में हैं, तो चेहरे पर काफ़ी दाने भी निकाल आते हैं. ये नॉर्मल दाने नहीं होते. ये एकने होता है. इनमें पस भरा होता है और काफ़ी दर्द होता है. क्योंकि बर्थ कंट्रोल पिल्स की वजह से हॉर्मोन्स नॉर्मल होते हैं इसलिए ये एकने ठीक करने में मदद करती हैं. इन पिल्स में एस्ट्रोजेन और प्रोजेस्टेरोन जैसे हॉर्मोन्स होते हैं. ये एकने ठीक करने में काफ़ी कारगर होते हैं.”

hormonal-acne_010419032649.jpgहॉर्मोनल एकने नॉर्मल दानों से अलग होता है. फ़ोटो कर्टसी: Shutterstock

3. पीरियड्स में दर्द भी कम होता है

हेल्थलाइन वेबसाइट में छपी ख़बर के मुताबिक, 31 प्रतिशत औरतें जो बर्थ कंट्रोल पिल्स खाती रहती हैं, वो ऐसा पीरियड में होने वाले दर्द से निपटने के लिए करती हैं.

डॉक्टर सेठी बताती हैं कि हॉर्मोनल बर्थ कंट्रोल पिल्स ऑवयूलेशन रोक देती हैं. यानी हर महीने औरतों के शरीर में एक अंडा ओवरीज़ से निकलकर गर्भाशय में आता है. पर अगर ये अंडा गर्भाशय तक आएगा ही नहीं तो गर्भाशय में मरोड़ नहीं उठेगी. न ही क्रैम्पस होते हैं.

4. गर्भाशय में होने वाले कैंसर का रिस्क कम करती हैं

वीमेंज़ हेल्थ नाम की वेबसाइट में छपी ख़बर के मुताबिक, हॉर्मोनल बिर्थ कंट्रोल पिल्स के लंबे फ़ायदे भी होते हैं. जो औरतें कॉम्बिनेशन बर्थ कंट्रोल पिल्स खाती हैं उनको गर्भाशय में कैंसर होने का रिस्क 50 प्रतिशत कम होता है. कॉम्बिनेशन बर्थ कंट्रोल पिल्स यानी वो पिल्स जिनमें एस्ट्रोजेन और प्रोजेस्टेरोन दोनों हॉर्मोन होते हैं. यहां तक कि इन अगर आप बर्थ कंट्रोल पिल्स खाना भी बंद कर दें, तो भी इनका असर अगले 20 सालों तक रहेगा. ये ओवरीज़ में होने वाले कैंसर से भी बचाती हैं.

utreus-1_010419032844.jpgजो औरतें कॉम्बिनेशन बर्थ कंट्रोल पिल्स खाती हैं उनको गर्भाशय में कैंसर होने के 50 प्रतिशत कम रिस्क होता है. फ़ोटो कर्टसी: Shutterstock

5. अनीमिया का रिस्क कम हो जाता है

कुछ औरतों को पीरियड्स के दौरान बहुत हैवी ब्लीडिंग होती है. इस वजह से उनमें अनीमिया का रिस्क बढ़ जाता है. यानी खून में हीमोग्लोबिन की कमी. अब इसका क्या मतलब हुआ? इसका मतलब हुआ खून में रेड ब्लड सेल्स की कमी. ये शरीर में ऑक्सीजन इधर से उधर करने का काम करते हैं. अब अगर ऑक्सीजन नहीं पहुंचेगा तो शरीर में थकान रहती है. चक्कर आता है.

हॉर्मोनल बर्थ कंट्रोल पिल्स पीरियड स्किप कर देती हैं. ब्लीडिंग नहीं होती. और पीरियड की वजह से होने वाला अनीमिया भी नहीं होता.

 

ऑडनारी से चिट्ठी पाने के लिए अपना ईमेल आईडी बताएं!

ऑडनारी से चिट्ठी पाने के लिए अपना ईमेल आईडी बताएं!

लगातार ऑडनारी खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करे      

Copyright © 2019 Living Media India Limited. For reprint rights: Syndications Today.