नाखून चबाने की आदत ने इस लड़की को अस्पताल भेज दिया

इस लड़की के साथ जो हुआ उसे पढ़कर नाखून चबाने की आदत छूट जाएगी.

सरवत फ़ातिमा सरवत फ़ातिमा
सितंबर 14, 2018
इस तरीके के कैंसर को मेलोनोमा कहते हैं. फ़ोटो कर्टसी: Pixabay

हमनें से कई लोगों को अपने नाख़ून खाने की बहुत आदत होती है. पर अब आप जो आगे पढ़ने वाली हैं, उसे पढ़कर आप ये आदत छोड़ देंगीं. 20 साल की कोर्टनी व्हिटहॉर्न ऑस्ट्रेलिया में रहती हैं. नौ साल पहले उनकों अपने नाख़ून खाने की आदत पड़ गई. कोर्टनी को उनके स्कूल में बहुत बुली किया जाता था. उस स्ट्रेस से लड़ने के लिए वो अपने नाख़ून खाती थीं. ये कोई नई बात नहीं है. हमनें से बहुत लोग ऐसा करते हैं. पर सबका अंजाम इतना ख़तरनाक नहीं होता.

हाल-फ़िलहाल में कोर्टनी को अपने हाथ का अंगूठा कटवा पड़ा. उनके अंगूठे में कैंसर हो गया था. वो भी ऐसा कैंसर जो बहुत कॉमन नहीं है. अब क्या आपको पता है उनको ये कैंसर क्यों हुआ? इसलिए क्योंकि वो अपने नाख़ून खाती थीं.

एक अंग्रेजी वेबसाइट में छपी ख़बर के मुताबिक़, कोर्टनी को अपने नाख़ून खाने की बहुत बुरी लत लग गई थीं. इतनी बुरी कि 2014 में उन्होंने अपने अंगूठे का नाख़ून पूरे तरीके से चबा डाला. नाख़ून कुछ इस तरह से चबाया गया था कि वो कभी भी दुबारा उग नहीं पाया. कुछ समय बाद, उनके नाख़ून के पीछे की खाल काली पड़ गई. इसके बाद कोर्टनी को डॉक्टर दिखाना पड़ा. जब टेस्ट हुआ तो पता चला कि उन्हें एक तरीके का कैंसर हो गया है. डॉक्टरों का ये भी मानना था कि ऐसा नाख़ून खाने की वजह से हुआ था. अंग्रेजी में इसे ‘नेल-बाइटिंग ट्रॉमा कहते हैं.’

हाल-फ़िलहाल में कोर्टनी को अपने हाथ का अंगूठा कटवा पड़ा. फ़ोटो कर्टसी: Mercury Press हाल-फ़िलहाल में कोर्टनी को अपने हाथ का अंगूठा कटवा पड़ा. फ़ोटो कर्टसी: Mercury Press

एक इंटरव्यू में वो कहती हैं:

“जब मुझे पता चला कि मुझे कैंसर नाख़ून खाने की वजह से हुआ है तो मुझे बहुत झटका लगा.”

अब इससे पहले आप घबरा जाइए. मोना गोहआरा येल यूनिवर्सिटी में पढ़ाती हैं. वो एक डॉक्टर भी हैं. इस बारे में वो क्या कहती हैं, पढ़ लीजिए:

“इस तरीके के कैंसर को मेलोनोमा कहते हैं. पर ऐसी कोई स्टडी है नहीं जो कहती है कि नाख़ून खाने से कैंसर हो जाता है. पर हां, ये एक वजह हो सकती है. खासतौर पर अगर उंगलियों पर घाव हो जाए.”

तो अगली बार नाख़ून खाने का मन करे तो ज़रा सोच समझकर.

 

ऑडनारी से चिट्ठी पाने के लिए अपना ईमेल आईडी बताएं!

ऑडनारी से चिट्ठी पाने के लिए अपना ईमेल आईडी बताएं!

लगातार ऑडनारी खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करे      

Copyright © 2018 Living Media India Limited. For reprint rights: Syndications Today.