लिप्सटिक, क्रीम या किसी तरह का मेकअप लगाने से आपकी प्रेग्नेंसी पर क्या फर्क पड़ता है?

क्या इससे बच्चे की ग्रोथ रुक सकती है?

सरवत फ़ातिमा सरवत फ़ातिमा
फरवरी 27, 2019
एक स्टडी के मुताबिक ऐसे प्रोडक्ट्स इस्तेमाल करने से बच्चे की ग्रोथ रुक जाती है. फ़ोटो कर्टसी: Pixabay

प्रेगनेंट औरतें क्या कर सकती हैं और क्या नहीं, इसकी एक लंबी लिस्ट है. हाल-फ़िलहाल में उसमें एक-दो चीज़ें और जुड़ गई हैं. एक रिसर्च के मुताबिक प्रेग्नेंसी के दौरान औरतों को मॉइस्चराइज़र और लिपस्टिक का इस्तेमाल नहीं करना चाहिए. ऐसा करने से बच्चे की ग्रोथ रुक सकती है. इसी रिसर्च के मुताबिक इन प्रोडक्ट्स में प्लास्टिक केमिकल होते हैं. खासतौर पर पैथालेट. ये एक खतरनाक प्लास्टिक केमिकल होता है. अगर ये लिपस्टिक में है तो मुंह में जा सकता है. क्रीम के ज़रिए खाल में भी एब्जॉर्ब हो सकता है. इस तरीके से बच्चे तक पहुंचता है. ऐसा हम नहीं, एक रिसर्च कहती है.

इसी स्टडी के मुताबिक पैथालेट की वजह से बच्चों में अस्थमा की दिक्कत भी हो जाती है. रिसर्चर्स ने 209 बच्चों के पेशाब के सैंपल्स इकट्ठा किए. इन बच्चों की उम्र तीन, पांच, और सात साल थी. पता चला जिन बच्चों के पेशाब में पैथालेट मौजूद था, उनको रोज़मर्रा के कामों को निपटाने में दिक्कत होती थी. उनको एंग्जायटी और डिप्रेशन भी होने के आसार थे.

स्टडी के अनुसार प्रेग्नेंसी के दौरान मांओं को लिपस्टिक और मॉइस्चराइज़र का इस्तेमाल नहीं करना चाहिए.

pregnancy-1_022719060721.png

दरअसल बात है कि प्रेग्नेंसी के दौरान बच्चे को केमिकल्स से बचाकर रखना चाहिए. फ़ोटो कर्टसी: Pixabay

अब बात ये है कि औरतें इन दो चीज़ों का इस्तेमाल प्रेग्नेंसी के दौरान अक्सर करती हैं. तो क्या ये इतना खतरनाक है जितना ये स्टडी कहती है? क्या वाकई इसका असर उनके बच्चे की ग्रोथ पर पड़ता है?

ये जानने के लिए हमने तीन स्त्री रोग विशेषज्ञों से बात की. डॉक्टर माला श्रीवास्तव (सर गंगा राम अस्पताल), डॉक्टर अनुराधा कपूर (मैक्स हॉस्पिटल, मुंबई), और डॉक्टर विनीता शर्मा (फ़ोर्टिस बेंगलुरु).

इन तीनों से हमने एक सवाल पूछा. क्या वाकई औरतों को प्रेग्नेंसी के दौरान इन प्रोडक्ट्स का इस्तेमाल नहीं करना चाहिए? क्या ये स्टडी सही है. जवाब चौंकाने वाला था. और वो था नहीं. ये सिर्फ़ एक मिथ है. यानी इस बात में कोई सच्चाई नहीं.

डॉक्टर माला श्रीवास्तव कहती हैं:

“देखिए, प्रेग्नेंसी के पहले तीन महीनों में औरत को केमिकल्स नहीं इस्तेमाल करने चाहिए. जैसे हेयर डाई. पर लिपस्टिक और मॉइस्चराइज़र से ऐसी कोई दिक्कत नहीं है. ये सब कहने की बातें हैं.”

lipstick-1_022719060941.jpg

लिपस्टिक ख़रीदने से पहले उसको बनाने में इस्तेमाल की गई चीज़ें ज़रूर पढ़िए (फ़ोटो कर्टसी: Pixabay)

दरअसल बात है कि प्रेग्नेंसी के दौरान बच्चे को केमिकल्स से बचाकर रखना चाहिए. कोई भी ऐसी चीज़ इस्तेमाल नहीं करनी चाहिए जिसमें ये केमिकल हों. पैथालेट भी उनमें से एक है. पर यहां कहानी में एक ट्विस्ट है.

आज के समय में लिपस्टिक और मॉइस्चराइज़र में पैथालेट इस्तेमाल भी नहीं होता. कई ज़माने पहले ये इन प्रोडक्ट्स में डाला जाता था. ज़्यादातर मेकअप कंपनी अब हर्बल या ऑर्गेनिक प्रोडक्ट्स इस्तेमाल करती हैं. साथ ही हमने कई कंपनियों की लिपस्टिक में इस्तेमाल करी जा रही चीज़ों को खोजकर निकाला. वो थीं फैट, ऑलिव ऑयल, पेट्रोलियम, बीज़वैक्स, वगैरह. ये वो चीज़ें हैं जो अगर मुंह में चली जाएं तो नुकसानदेह नहीं होतीं. लिपस्टिक को यही बात ध्यान में रखकर ही अब बनाया जाता है. ताकि अगर ये मुंह के अन्दर जाए तो आपकी सेहत पर असर न पड़े.

मॉइस्चराइज़र के साथ भी ऐसा ही है.

खैर. अगली बार आप कोई लिपस्टिक या मॉइस्चराइज़र ख़रीदने जाएं, तो इसमें इस्तेमाल की गई चीज़ों की लिस्ट को ज़रूर पढ़ लें. पर बिना टेंशन के आप अपने पसंदीदा प्रोडक्ट्स इस्तेमाल कर सकती हैं. ये ध्यान दें कि उसमें कोई खतरनाक केमिकल न हों.

पढ़िए: बिना एक्सरसाइज़ या खाना छोड़े, ऑपरेशन से कैसे घटाते हैं वज़न

 

लगातार ऑडनारी खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करे      

Copyright © 2019 Living Media India Limited. For reprint rights: Syndications Today. India Today Group