जानिए उस फिल्म के बारे में जिसके लिए श्रीदेवी ने रजनीकांत से ज्यादा पैसे लिए थे

13 की उम्र में श्रीदेवी ने लीड रोल किया था.

सरवत फ़ातिमा सरवत फ़ातिमा
अगस्त 13, 2019
फ़िल्म मूंदरू मुदिचू का एक सीन. (फ़ोटो कर्टसी: YouTube)

आज यानी 13 अगस्त को श्रीदेवी का जन्मदिन है. उनकी ज़िंदगी से जुड़ी शायद ही कोई ऐसी कहानी है जो आमतौर पर लोग नहीं जानते. पर कुछ मज़ेदार बातें हैं जिनके बारे में कम ही लोगों को पता है. जैसे उस फिल्म के बारे में जिसमें श्रीदेवी ने पहली बार लीड भूमिका निभाई थी.

लीड एक्टर के तौर श्रीदेवी की पहली फिल्म थी मुंदरू मुदिचू. 1976 में रिलीज हुई थी. 1963 में जन्मीं श्रीदेवी तब सिर्फ 13 साल की थीं. फिल्म में उनके साथ कमल हासन और रजनीकांत भी लीड रोल में थे. इस फिल्म से पहले चाइल्ड एक्टर के तौर पर श्रीदेवी कई फ़िल्में कर चुकी थीं. जैसे नाम नाडू, पूम्पत्ता, और कंदन करुनाई.

मूंदरू मुदिचू के समय रजनीकांत एक न्यू कमर थे. पर कमल हासन स्टार बन चुके थे. मज़ेदार बात ये है कि इस फ़िल्म के लिए श्रीदेवी को रजनीकांत से ज़्यादा पैसे मिले थे! फ़िल्म के लिए कमल हासन को 30 हज़ार. श्रीदेवी को पांच हज़ार और रजनीकांत को दो हज़ार मिले थे.

फ़िल्म की कहानी कुछ इस तरह थी:

बालाजी (कमल हासन) और प्रसाद (रजनीकांत) रूममेट हैं. बालाजी को सेल्वी (श्रीदेवी) से प्यार हो जाता है. वो भी उसी बिल्डिंग में रहती है. प्रसाद को भी सेल्वी पसंद है. वो बालाजी को दिखाता है कि वो उसकी लव स्टोरी को सपोर्ट करता है. पर दरअसल उसके इरादे कुछ और ही होते हैं. सेल्वी को उसकी असलियत पता चल जाती है. वो बालाजी को उसकी सच्चाई बताने की कोशिश करती है. पर बालाजी उसकी बात पर यकीन करने के लिए तैयार नहीं होता.

फ़िल्म की कहानी के मुताबिक, लीड एक्टर्स के बीच रोमांस होता है. अजीब बात ये है कि इस समय श्रीदेवी की उम्र केवल 13 साल थी. इस उम्र के लड़की या लकड़े पर रोमांस फ़िल्माना एक तरह का शोषण ही है. अव्वल तो इस उम्र में बच्चे को पता ही नहीं होता कि उसके साथ क्या हो रहा है. ऐसे में रजामंदी माता-पिता से ली जाती है.

Image result for moondru mudichu

रजनीकांत, श्रीदेवी, कमल हसन. (फ़ोटो कर्टसी: YouTube)

ऐसा अक्सर होता है. हाल-फ़िलहाल का एक नमूना है हंसिका मोटवानी. 2007 में उनकी फ़िल्म आई थी ‘आपका सुरूर’. ये हंसिका की बतौर लीड एक्ट्रेस पहली फ़िल्म थी. इसमें उनके हीरो थे हिमेश रेशमिया. उस वक़्त भी दोनों के ऐज गैप और उनके बीच में हुए सींस को लेकर काफ़ी बवाल हुआ था.

Image result for aapka suroor

आपका सुरूर फ़िल्म का शॉट. (फ़ोटो कर्टसी: YouTube)

वापस श्रीदेवी पर आते हैं. श्रीदेवी ने कभी मूंदरू मुदिचू में अपने रोल को लेकर ऐतराज़ नहीं जताया. उन्हें डायरेक्टर पर भरोसा था. वीर सांघवी को दिए एक इंटरव्यू में उन्होंने कहा था कि उन्हें ख़ुशी है कि डायरेक्टर ने उनपर भरोसा किया.

इसकी एक वजह ये भी है कि उस समय इन बातों पर किसी का ज़्यादा ध्यान जाता भी नहीं था. खैर, श्रीदेवी ने अपने कैरियर में काफ़ी हिट फ़िल्में दीं. उनके को-स्टार्स भी उनको काफ़ी पसंद करते थे. 24 फ़रवरी, 2018 को दुबई के एक होटल में श्रीदेवी की मौत हो गई. जिस तरह से हुई उसने कई लोगों को सन्न कर दिया.

श्रीदेवी ने बॉलीवुड समेत रीजनल सिनेमा को कई हिट फ़िल्में दीं. उन्हें हमेशा एक बेहतरीन एक्ट्रेस के रूप में याद किया जाएगा.

पढ़िए: सौतेले पिता पर मॉलेस्ट करने के आरोप पर श्वेता तिवारी की बेटी ने ये बात कही है

 

लगातार ऑडनारी खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करे      

Copyright © 2019 Living Media India Limited. For reprint rights: Syndications Today. India Today Group