रवींद्र जडेजा की पत्नी ने 1 महीने पहले BJP जॉइन की थी, अब बहन और कांग्रेस में शामिल हो गए

परिवार एक, पार्टियां दो-दो

लालिमा लालिमा
अप्रैल 15, 2019
रवींद्र जडेजा की बहन नैना (लेफ्ट), रवींद्र जडेजा पत्नी रिवाबा और पीएम मोदी के साथ (राइट)

लोकसभा चुनाव चल रहे हैं. चुनावी माहौल बना हुआ है. बहुत सारे नए चेहरे पॉलिटिक्स में एंट्री कर रहे हैं. कोई बीजेपी में शामिल हो रहा है, तो कोई कांग्रेस में, कोई किसी पार्टी में, तो कोई निर्दलीय चुनाव लड़कर राजनीति में एंट्री करने की कोशिश में है. माने हर तरफ बस राजनीति छाई हुई है. इस माहौल में एक नाम काफी सुनने में आ रहा है. नाम है रवींद्र जडेजा. फेमस क्रिकेटर हैं. नहीं, इन्होंने कोई पार्टी जॉइन नहीं की है. बल्कि इनके परिवार वालों ने की है.

जडेजा की पत्नी हैं रिवाबा जडेजा, इन्होंने एक महीने पहले बीजेपी जॉइन की थी. अब रवींद्र जडेजा की बहन नैना और पिता अनिरुद्ध सिंह भी राजनीति में आ गए हैं. लेकिन ये दोनों बीजेपी में नहीं, बल्कि कांग्रेस में शामिल हुए हैं. 14 अप्रैल के दिन गुजरात के जामनगर के कलवाड टाउन में कांग्रेस की एक रैली हुई थी. इसी रैली में नैना और अनिरुद्ध ने कांग्रेस जॉइन की. इस मौके पर हार्दिक पटेल भी मौजूद थे. रवींद्र, जामनगर के ही हैं.

nainaba-1-750x500_041519014325.jpgनैना ने कांग्रेस जॉइन की. फोटो- ANI ट्विटर

इंटरेस्टिंग. एक ही परिवार के सदस्य अलग-अलग पार्टी के नेता. काफी इंटरेस्टिंग है. बता दें कि जामनगर में 23 अप्रैल के दिन वोटिंग होगी. तीसरे चरण के तहत. पूरा लोकसभा चुनाव 7 चरणों में हो रहे हैं.

कौन हैं रिवाबा जडेजा?

पहला, बीजेपी की नेता हैं. दूसरा, गुजरात में करणी सेना की महिला विंग की अध्यक्ष हैं. पिछले साल करणी सेना ने रिवाबा को अध्यक्ष बनाया था. करणी सेना वही, जिसने पद्मावत फिल्म के रिलीज का विरोध किया था. भयंकर वाला विरोध.

रिवाबा ने 3 मार्च के दिन बीजेपी जॉइन की थी. जामनगर में ही एक कार्यक्रम के दौरान रिवाबा बीजेपी में शामिल हुईं. इस मौके पर बीजेपी जामनगर उम्मीदवार पूनम माडम भी मौजूद थीं. पहले कहा जा रहा था कि बीजेपी शायद रिवाबा को लोकसभा चुनाव का टिकट दे सकती है, लेकिन ऐसा हुआ नहीं.

रिवाबा इंजीनियर हैं. वैसे तो राजकोट की रहने वाली हैं, लेकिन शादी के बाद जामनगर आ गईं. सिविल सर्विसेज परीक्षा की तैयारी भी कर रही थीं शादी के वक्त. इनकी शादी साल 2016 में हुई थी, रवींद्र जडेजा से. पिछले साल जब मीटू मूवमेंट चला था, तब रिवाबा ने भी इसे सपोर्ट किया था.

पिछले साल नवंबर के महीने में रवींद्र और रिवाबा ने पीएम नरेंद्र मोदी से मुलाकात की थी. ऊपर जो तस्वीर लगी है, वो उसी मुलाकात की है.

इसे भी पढ़ें- जया प्रदा के लिए बेहूदा बात कहते हुए आज़म खान को शर्म ना आई, अब बात से पलट रहे हैं

 

लगातार ऑडनारी खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करे      

Copyright © 2019 Living Media India Limited. For reprint rights: Syndications Today. India Today Group