लोकतंत्र की एक घटना: नुसरत जहां रूही जैन

वेस्टर्न कपड़ों से सिंदूर भरी मांग तक.

कुसुम लता कुसुम लता
जून 26, 2019
नुसरत जहां पहली बार संसद पहुंची तो ट्रोल हुईं, दूसरी बार में लोगों सिर-आंखों पर बिठाया

नुसरत जहां रूही जैन. पश्चिम बंगाल के बसीरहाट से सांसद हैं. ममता बनर्जी की पार्टी तृणमूल कांग्रेस से आती हैं. पेशे से एक्टर हैं. 23 मई को लोकसभा चुनाव के नतीजे आए. नतीजों के साथ ही नुसरत जहां पूरे देश की नजर में आ गईं. सबसे ग्लैमरस सांसद. 17वीं लोकसभा की सबसे खूबसूरत सांसद. इस बात को एक महीने से ज्यादा समय हो चुका है, नई सरकार अपना काम शुरू कर चुकी है. लेकिन नुसरत का नाम लगातार सुर्खियों में बना हुआ है. इस एक महीने में उनको लेकर लोगों का नजरिया पूरी तरह बदल चुका है. एकदम 360 डिग्री.

अभी एक महीना भी नहीं हुआ जब नुसरत पहली बार संसद पहुंची थीं. एक आम लड़की की तरह ट्राउजर और टॉप पहनकर. उनके साथ उनकी दोस्त मिमी चक्रवर्ती भी पहुंची थीं. मिमी भी एक्टर हैं और वो भी पहली ही बार सांसद बनी हैं. मिमी ने जींस-शर्ट पहनी थी. दोनों ने संसद भवन के बाहर फोटो क्लिक और सोशल मीडिया पर शेयर कर दी. लेकिन ये फोटो लोगों को पसंद नहीं आई.

पहले ये फोटो देख लीजिए-

 

लोग उन दोनों को मर्यादा याद दिलाने लगे. उनके धर्म पर सवाल उठाने लगे. लोगों ने लिखा-

- सही में? तो क्या पार्लियामेंट के सामने ऐसे फोटो खिंचवाई जाती है? ये कोई फिल्म की शूटिंग नहीं है.

- तुम्हें मालूम नहीं है कि कैसे कपड़े पहनने हैं? ये तुम्हारी शूटिंग या छुट्टियां बिताने की जगह नहीं है.

- बसीरहाट के लोगों को शर्म आनी चाहिए कि उन लोगों ने ऐसी औरत को चुना. इसने हमारे संसद का अपमान किया है.

- नए सांसद को संसद के बाहर ऐसे तो बिहेव नहीं करना चाहिए.

ये वो बातें हैं जिन्हें यहां हम लिख सकते हैं.

चुनाव जीतते ही नुसरत जहां को देश की सबसे खूबसूरत सांसद का खिताब मिल गया. लेकिन संसद में उनका पहला अपीयरेंस किसी को रास नहीं आया. लोगों को उनके कपड़ों से इतनी दिक्कत हुई, इतनी दिक्कत हुई कि बाल्टी भर-भरकर उन्हें लानतें भेजी गईं. थोड़ी शर्म कर लेने की एडवाइस भी मिली.

लेकिन फिर उनकी लाइफ में एक बहुत बड़ा बदलाव आया. उन्होंने सोशल मीडिया पर अनाउंस कर दिया कि वो शादी करने वाली हैं. निखिल जैन से. निखिल जैन और नुसरत जहां लंबे वक्त से एक दूसरे को डेट कर रहे थे. शादी 20 जून को थी. ऐसे में लोगों को एक और मौका मिल गया नुसरत को ये याद दिलाने का लोगों ने उन्हें चुनकर लोकसभा भेजा है. और उन्हें इस तरह शपथग्रहण छोड़कर शादी करने नहीं जाना चाहिए.

नुसरत जहां और निखिल जैन ने 20 जून को शादी रचाईनुसरत जहां और निखिल जैन ने 20 जून को शादी रचाई

खैर, निखिल जैन से शादी का अनाउंसमेंट हुआ, और लोग उन्हें भारत की अनेकता में एकता की मिसाल बताने लगे. उनकी पर्सनल लाइफ सुर्खियों में आ गई. कौन सी फिल्में की हैं, क्या खाती हैं, कैसे रहती हैं सब पर आर्टिकल छप गए. क्या हिंदी, क्या बांग्ला, क्या अंग्रेजी... मराठी, गुजराती, तमिल, तेलुगु, कन्नड़... भारत की लगभग हर भाषा में उन पर आर्टिकल छपे.

नुसरत जहां को लेकर लोगों के नजरिए में अचानक ही बदलाव आ गया. उनकी शादी तुर्की में हुई. हिंदू रीति रिवाज से, बाद में ईसाई रीति रिवाज से. नुसरत ने अपनी शादी में सब्यसाची का सुर्ख लहंगा पहना था. शादी की तस्वीरों से सोशल मीडिया अट गया. लोग दावे करने लगे कि उन्होंने हिंदू धर्म अपना लिया है. और उनका नाम अब रूही जैन हो गया है.

वो अचानक से चुनी हुई सांसद नहीं रहीं. वो कई फिल्मों में काम कर चुकी अभिनेत्री नहीं रहीं. वह सिर्फ एक मुस्लिम लड़की बनकर रह गईं जिसने एक हिंदू से शादी की है. जिसने सनातन धर्म में वापसी की है. हालांकि, नुसरत ने धर्म बदलने को लेकर कोई ऑफिशियल ऐलान नहीं किया है.

कुछ नमूने यहां देख लीजिएः

 

 

 

लेकिन केक में चैरी का लगना अभी बाकी था. नुसरत 25 जून को संसद पहुंची, शपथ लेने के लिए. साड़ी पहनकर. हाथों में मेहंदी, मांग में सिंदूर और चूड़ा पहनकर. उनका ये अवतार उनके पिछले अवतार से एकदम उलट था. उनके साथ मिमि चक्रवर्ती भी पहुंचीं. दोनों ने शपथ ली.

नुसरत ने पहले 'अस्सलाम आलेकुम, नमस्कार' कहा. इसके बाद बंगाली में शपथ ली. ईश्वर की शपथ ली. आखिर में उन्होंने कहा, 'जय हिंद, वंदे मातरम, जय बांग्ला.' इसके बाद उन्होंने लोकसभा स्पीकर ओम बिड़ला के पांव छूए.

इसके बाद #NusratJahan ट्विटर पर ऊपर आ गया. उनकी तारीफों से पूरा सोशल मीडिया अट गया. वह अचानक लोकतंत्र की असली सिपाही बन गईं, भारत की विविधता का सबसे खूबसूरत चेहरा.

शब्द बदल-बदलकर कई लोगों ने एक ही बात ट्वीट की. इस मैसेज का लब्बोलुआब था-

एक मुस्लिम एक्ट्रेस. हिंदू से शादी की. अपना मुस्लिम नाम बनाए रखा. संसद में सलाम-अलैकुम से शुरुआत कर अपने धर्म का मान रखा. मांग में सिंदूर, हाथ में मेहंदी, चूड़ा पहनकर पति के धर्म का मान रखा, जय हिंद बोलकर देश का, जय बांग्ला बोल कर प्रदेश का और वन्दे मातरम बोल कर राष्ट्रवादियों का दिल जीत लिया. दिल जीतने के साथ आपने उन लोगों को भी आईना दिखा दिया जिन्हें 'वंदे मातरम' बोलने में शर्म महसूस होती है.

हालांकि, कई यूजर्स ने इसे लोगों की हिपोक्रिसी बताते हुए लिखा-

सिंदूर-मेहंदी लगाने और साड़ी पहनने पर नुसरत जहां कुछ लोगों के लिए नए भारत की झंडाबरदार हो गईं. ये वही लोग हैं जिन्होंने संसद के पहले दिन जींस और ट्राउसर पहनने पर मिमि चक्रवर्ती और नुसरत जहां को ट्रोल किया था.

नुसरत के साथ मिमि चक्रवर्ती ने भी शपथ लिया. मिमि ने भी ईश्वर के नाम पर शपथ ली. आखिर में उन्होंने भी 'जय बांग्ला, जय भारत और वंदे मातरम' कहा. वह भी स्पीकर से मिलने पहुंचीं और उन्होंने भी उनके पांव छूए.

दोनों ही सांसद पश्चिम बंगाल से आती हैं. दोनों ही तृणमूल कांग्रेस की हैं. दोनों ही एक्टर रह चुकी हैं. दोनों ही भारतीय परिधान में संसद पहुंची थीं. लेकिन सोशल मीडिया में सिर्फ नुसरत जहां की चर्चा है. 

मानो नुसरत जहां कोई इंसान नहीं. कोई घटना हो जिसके बारे में हर कोई बात कर रहा है. जो बात नहीं कर रहा है वो उनके बारे में पढ़ रहा है. उनके बारे में ज्यादा से ज्यादा जानना चाह रहा है.

 

 

लगातार ऑडनारी खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करे      

Copyright © 2019 Living Media India Limited. For reprint rights: Syndications Today. India Today Group