यकीन नहीं होता ये आदमी हमारी संसद में बैठा है, हमारे लिए कानून बनाता है

9 औरतें आईं सामने और कितनी?

आपात प्रज्ञा आपात प्रज्ञा
अक्टूबर 11, 2018
एम. जे. अकबर पर महिलाएं यौन उत्पीड़न का आरोप लगा रही हैं . फोटो क्रेडिट- पीटाआई

एम. जे. अकबर का नाम लगातार खबरों में है. बहुत-सी औरतें उन पर यौन उत्पीड़न का आरोप लगा चुकी हैं. #MeToo के अंतर्गत लगातार महिलाएं उन लोगों को सबके सामने ला रही हैं जिन्होंने कभी भी उनका उत्पीड़न किया था. अब मशहूर पत्रकार गज़ाला वहाब ने भी एम. जे. अकबर पर आरोप लगाए हैं. उन्होंने ‘द वायर’ में एक आर्टिकल लिखा. इसमें उन्होंने बताया कि किस तरह एशियन ऐज में काम करते हुए उन्हें एम. जे. अकबर की घटिया सोच का शिकार होना पड़ा था.   

उन्होंने अपनी कहानी बताते हुए लिखा कि ‘एशियन ऐज के ऑफिस में मुझे एक सीनियर ने ‘टू स्मॉल टाउनिश’ कह कर ताना मारा था. अगले दो साल तक मैं वहां किसी तरह सामंजस्य बिठाने की कोशिश करती रही. मैंने सुना कि लोग दिल्ली के एशियन ऐज ऑफिस को अकबर का हरम कहते थे. वहां पर लड़कों से कई ज़्यादा युवा लड़कियां थीं. मैंने कई दफा ये भी सुना कि एशियन ऐज के रीजनल ऑफिसेज़ में भी अकबर की गर्लफ्रेंड्स हैं. ऑफिस कल्चर के नाम पर मैं ये सबकुछ निगलने की कोशिश कर रही थी.’

गज़ाला वहाब. फोटो क्रेडिट- ट्विटर गज़ाला वहाब. फोटो क्रेडिट- ट्विटर

गज़ाला वहाब ने आगे बताया- ‘एम. जे. अकबर मेरे एडिटर थे. उन्होंने जानबूझकर मेरा टेबल उनके केबिन के सामने लगवाया. वो मुझे कई बार केबिन में बुलाते थे. वो जब वीकली कॉलम लिखते थे तो मुझे डिक्शनरी देखने के लिए बुलाते थे. डिक्शनरी काफी नीचे थे. अगर उसे पढ़ना है तो किसी को भी झुकना पड़ता था. एक बार जब मैं कोई शब्द देख रही थी तो उन्होंने मुझे पीछे से आकर पकड़ लिया. उन्होंने मेरे शरीर को ब्रेस्ट्स से लेकर हिप्स तक बुरी तरह छुआ. मैंने उन्हें पीछे धकेलने की कोशिश की, पर वो मुझे कसकर पकड़े रहे. उनके हाथ मेरे ब्रेस्ट्स को छूते रहे. उन्होंने दरवाजे को बंद कर रखा था. इसके बाद भी कई बार उन्होंने इस ही तरह मुझे परेशान करने की कोशिश की. मैंने कई बार सोचा कि मैं नौकरी छोड़ दूं. लेकिन वो 1990 का दौर था. मैं पहली बार अपने घर से बाहर आई थी. घर से लड़कर आई थी. मैं खुद से कुछ करना चाहती थी.’

गज़ाला ने और भी घटनाएं बताईं, जब एम. जे. अकबर ने उन्हें इस तरह हरास किया. उनका उत्पीड़न किया.

गज़ाला वहाब से पहले प्रिया रमानी, कनिका गहलोत, सुपर्णा शर्मा, शुमा राहा, प्रेरणा सिंह बिंद्रा और शुतपा पॉल ने एम. जे. अकबर पर आरोप लगाए थे. इन सबने लगभग एक ही तरह के आरोप लगाए. इन्होंने बताया कि अकबर इन्हें होटल के कमरों में बुलाते थे. किसी काम से बाहर भेजते थे और फिर वहां होटल में पहले से ही मौजूद होते थे.

प्रिया रमानी. फोटो क्रेडिट- ट्विटर प्रिया रमानी. फोटो क्रेडिट- ट्विटर

एम. जे. अकबर पर सबसे पहले चुप्पी तोड़ी प्रिया रमानी ने. प्रिया ने ‘वोग मैग्ज़ीन’ को 2017 में एक इंटरव्यू दिया था. इस इंटरव्यू में उन्होंने अपने साथ हुए यौन उत्पीड़न के बारे में बताया था. उन्होंने उन सभी घटनाओं का ज़िक्र किया था जब उन्हें उत्पीड़न झेलना पड़ा, लेकिन किसी भी आरोपी का नाम नहीं लिया था. अब इसी पोस्ट को शेयर करके उन्होंने लिखा कि ये स्टोरी उन्होंने एम. जे. अकबर के साथ शुरू की थी. आप उस ट्वीट को यहां देख सकते हैं-

सुपर्णा शर्मा ने इंडियन एक्सप्रेस से बात करते हुए अपनी बात बताई. उन्होंने बताया कि जब वो नई थीं, 20 साल के लगभग रही होंगी तब 1993 से 1996 के बीच अकबर ने उन्हें हरास किया था. उन्होंने मेरी ब्रा स्ट्रेप खींची और कुछ कहा जो मुझे याद नहीं है. मैं उनपर चिल्लाई थी. इसके बाद एक बार मैंने एक टी-शर्ट पहनी थी, जिस पर कुछ लिखा था. जब मैं किसी काम से उनके कैबिन में गई तो अकबर ने मेरे ब्रेस्ट्स को घूरा और कुछ कहा, तब मैंने इग्नोर कर दिया.

फोटो क्रेडिट- Reuters फोटो क्रेडिट- Reuters

शुमा राहा ने भी इंडियन एक्सप्रेस को एम. जे. अकबर के बारे में बताया कि एशियन ऐज में जॉब इंटरव्यू के लिए उन्हें कोलकाता के एक होटल में बुलाया गया था. बिस्तर पर बैठ कर उनका इंटरव्यू हुआ एम. जे. अकबर के साथ. उसके बाद अकबर ने उन्हें ड्रिंक्स पर आने का न्यौता दिया.

कनिका गहलोत ने भी कुछ ऐसा ही ज़िक्र किया है. उन्होंने बताया कि अकबर ने उन्हें मुंबई के एक होटल में बुलाया था. वो उनके बारे में पहले से ही सुन चुकी थीं इसलिए वो नहीं गईं.

फोटो क्रेडिट- Reuters फोटो क्रेडिट- Reuters

इसके बाद प्रेरणा सिंह बिंद्रा ने अकबर पर अपनी चुप्पी तोड़ी. उन्होंने बताया कि उन्हें भी अकबर ने काम के सिलसिले में होटल बुलाया. जब वो नहीं गईं तो उन्हें परेशान किया. उन्होंने ये भी बताया कि उनके साथ काम करने वाली एक और लड़की को भी अकबर ने इस ही तरह होटल में बुलाया था.

शुतपा पॉल ने अकबर के खिलाफ लिखा- ‘#MeToo, कोलकाता में 2010-2011 में इंडिया टुडे में काम करने के दौरान मेरा यौन उत्पीड़न हुआ था.’

कादंबरी मुरली वेड ने भी कुछ ट्वीट्स के ज़रिए एम. जे. अकबर पर आरोप लगाए हैं. कादंबरी ने बताया कि अकबर ने उनके साथ भी वैसा ही सुलूक किया. जब उन्होंने अपने स्पोर्ट्स एडिटर को ये बात बताई तो उन्होंने कहा कि वो सबके साथ ऐसा ही करते हैं.

शबा नकवी ने भी इस ही तरह की घटना का ज़िक्र किया है. 'डेली ओ' में लिखे अपने लेख में उन्होंने बताया कि किस तरह एम. जे. अकबर ने उनका हरासमेंट किया था.

इन सब आरोपों के चलते ऐसा माना जा रहा है कि एम. जे. अकबर से इस्तीफा मांगा जा सकता है. हालांकि, विपक्ष शुरू से ही अकबर के इस्तीफे की मांग कर रहा है. अकबर फिलहाल नाइजीरिया दौरे पर हैं. उन्हें एक दिन पहले ही वापस बुला लिया गया है. इस कारण अटकलें लग रही हैं कि उनसे इस्तीफे की मांग हो सकती है. सरकार इस मामले पर चुप है. सुषमा स्वराज से सवाल करने पर उन्होंने कोई जवाब नहीं दिया था. न ही सरकार की तरफ से एम. जे. अकबर पर लग रहे आरोपों पर कोई बयान आया है.  

 

ऑडनारी से चिट्ठी पाने के लिए अपना ईमेल आईडी बताएं!

ऑडनारी से चिट्ठी पाने के लिए अपना ईमेल आईडी बताएं!

लगातार ऑडनारी खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करे      

Copyright © 2018 Living Media India Limited. For reprint rights: Syndications Today.