'गुप्त खजाने' के लालच में ससुराल वालों ने महिला को 50 दिन तक भूखा रखा

बाबा के चक्कर में जान लेने पर उतारू था पति

ऑडनारी ऑडनारी
जुलाई 12, 2019
सांकेतिक फोटो

महाराष्ट्र का चंद्रपुर जिला. यहां के शेगांव थाना इलाके में सुनीता (बदला हुआ नाम) अपने पति और ससुराल वालों के साथ रहती थी. अब वह अपने मायके आ गई है. अगस्त, 2018 में उसकी शादी हुई थी. शादी के पहले दिन से ही उसके साथ बुरा सलूक होने लगा. अब खबर आई है कि उसके ससुराल वालों ने उसे 50 दिन तक भूखा रखा. यानी 50 दिन तक उसे सिर्फ इतना खाना दिया गया जिससे वह जिंदा रह सके. वजह और भी हैरान करने वाली है.

दरअसल, सुनीता का परिवार किसी बाबा के चक्कर में पड़ा था. इस बाबा ने सुनीता के पति से कहा कि अगर सुनीता भूखी रहती है. तो उन्हें गुप्त खजाना मिल सकता है. इसके बाद उस बाबा ने कोई अनुष्ठान भी बताया. इसके लिए सुबह पौने तीन बजे सुनीता को  पूजा करनी पड़ती थी.

महाराष्ट्र पुलिस. सांकेतिक फोटोमहाराष्ट्र पुलिस. सांकेतिक फोटो

शेगांव थाने के एक अधिकारी ने पीटीआई को बताया कि सुनीता के ससुराल वाले उससे कछुए की पूजा करवाते थे. कई और अनुष्ठान उससे जबरदस्ती करवाए जाते थे. अगर उससे कोई गलती होती तो उसे पीटा जाता था. इस अधिकारी के मुताबिक, सुनीता बहुत ज्यादा कमजोर हो गई थी. एक दिन उसके पिता उससे मिलने उसके ससुराल गए. वो उसकी हालत देखकर दंग रह गए. वह सुनीता को अपने साथ लेकर वापस आ गए. वापस आने के बाद सुनीता ने अपनी आपबीती अपने पेरेंट्स को बताई.

ग्रामीण इलाकों में टोने-टोटके और ओझा-बाबा जैसी चीज़ों पर लोग आसानी से भरोसा कर लेते हैं. इस तरह के अंधविश्वास के प्रति लोगों को जागरूक करने के लिए, राज्यों में अंधश्रद्धा निर्मूलन समितियां बनाई जाती हैं. जब इस समिति को इस घटना के बारे में पता चला तब उन्होंने पुलिस को इसकी सूचना दी. और सुनीता के पति, उसके ससुराल वालों और उस ओझा के खिलाफ कार्रवाई की मांग की.

इसके  बाद पुलिस ने सुनीता के पति  के खिलाफ सेक्शन 498 (A)के तहत मामला दर्ज किया है. वहीं उसके और अघोरी बाबा के खिलाफ ब्लैक मैजिक एक्ट, 2013 के तहत केस दर्ज किया गया है. दोनों को गिरफ्तार कर लिया गया है.

 

लगातार ऑडनारी खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करे      

Copyright © 2019 Living Media India Limited. For reprint rights: Syndications Today. India Today Group