इमरजेंसी मरीज के पास जा रही एम्बुलेंस GPS फ़ेल हो गया, फिर किया इस लड़के ने कलेजा हरा करने वाला काम

ये 'डिलिवरी बॉय' हमारे लिए मिसाल है.

'लू हुचेंग'. फोटो क्रेडिट- People's Daily China, Facebook

चीन के एक डिलिवरी बॉय लू हुचेंग को लोग आजकल खूब बधाई दे रहे हैं. उन्होंने काम ही ऐसा किया है. 

4 जून को रोज़ की तरह लू अपने काम के लिए एक रेस्टोरेंट के बाहर इंतज़ार कर रहे थे. तभी उनसे एक एम्बुलेंस ने किसी जगह का पता पूछा. पहले तो लू ने ड्राइवर को पता समझाया. लेकिन उन्हें लगा कि एम्बुलेंस रास्ता भटक सकती है तो खुद अपनी गाड़ी आगे चला कर उन्हें उस जगह तक छोड़ कर आए. 

'लू हुचेंग'. फोटो क्रेडिट- People's Daily China, Facebook 'लू हुचेंग'. फोटो क्रेडिट- People's Daily China, Facebook

चीन के एस.ई. ज़हेजिअंग प्रान्त में एक अस्पताल है वेंजहॉ इमरजेंसी मेडिकल सेन्टर. अस्पताल के डॉक्टर शेंग चओफन बताते हैं कि '4 जून की रात को हम उस जगह तो पहुंच गए जहां से इमरजेंसी फोन आया था पर सही पता ढूंढने में हमें परेशानी हो रही थी क्योंकि जीपीएस सही पता नहीं ढूंढ पा रहा था. हमने एक डिलीवरी बॉय से मदद मांगी.' 

जब एम्बुलेंस सही जगह पहुंच गई, डॉक्टर तुरन्त चोटिल व्यक्ति को इमरजेंसी इलाज देने लगे. चोटिल व्यक्ति गम्भीर हालत में था. लू ने सही समय पर एम्बुलेंस को पहुंच दिया. इससे चोटिल को सही समय पर इलाज मिल पाया. एम्बुलेंस को पहुंचा लर लू चुप-चाप वहां से अपने काम पे गए. सही समय पर अपना काम किया, समय रहते आर्डर भी पहुंचाया. उन्होंने उस दिन सुबह 8 बजे तक काम किया. जब वो दिन में सो कर उठे हर जगह उन्ही की बातें हो रही थीं. 

एम्बूलेंस को रास्ता बताते हुए 'लू हुचेंग'. फोटो क्रेडिट- People's Daily China, Facebook एम्बूलेंस को रास्ता बताते हुए 'लू हुचेंग'. फोटो क्रेडिट- People's Daily China, Facebook

इस ही घटना का वीडियो किसी ने सोशल मीडिया पर डाल दिया. जिसमें दिख रहा है कि लू अपनी बाइक चला कर एम्बुलेंस को रास्ता बता रहे हैं. वीडियो को देखने पर पहले तो लगता है कि लू एम्बुलेंस का रास्ता रोक रहे हैं पर असल में वो उसे रास्ता दिख रहे हैं.

इस घटना को People's Daily China ने फेसबुक पर पोस्ट किया, तब से लोगों में लू के काम की बहुत सराहना हुई. लोग उन्हें बेस्ट डिलेवरी मैन कह रहे हैं. हज़ारों चीन के लोग उनकी तारीफ कर रहे हैं, कह रहे हैं - 'ऑर्डिनरी लोग भी हीरो हो सकते हैं.'

लू कहते हैं कि- 'मैंने इतना ज्यादा नहीं सोचा था, इंसान की जान की कीमत किसी भी काम से ज़्यादा है. मैंने तो बस एक छोटी सी मदद की है. मैंने नहीं सोच था कि इस बात को इतनी तवज्जो मिलेगी.'

'लू हुचेंग'. फोटो क्रेडिट- People's Daily China, Facebook 'लू हुचेंग'. फोटो क्रेडिट- People's Daily China, Facebook

लोगों की मदद करना ये ही तो हमको हमेशा सिखाया जाता है. शायद, अब लोगों की मदद करना इतना विरला हो गया है कि मनुष्य के सामान्य व्यवहार को भी विशेष की तरह देखा जाता है. वैसे हर अच्छे काम की तारीफ की जानी चाहिए. 

 

ऑडनारी से चिट्ठी पाने के लिए अपना ईमेल आईडी बताएं!

ऑडनारी से चिट्ठी पाने के लिए अपना ईमेल आईडी बताएं!

लगातार ऑडनारी खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करे      

Copyright © 2018 Living Media India Limited. For reprint rights: Syndications Today.