तेज प्रताप यादव और ऐश्वर्या राय को टारगेट करके ददन पहलवान ने बेहद घटिया बात कही है

पॉलिटिशियन गिरते हैं, पर ददन पहलवान तो ग्रेट निकले

लालू यादव. बिहार की राजनीति का ऐसा नाम जिनसे हर कोई वाकिफ़ है. डेढ़ दशक से ज्यादा बिहार की पॉलिटिक्स परिभाषित करने वाले नेता. चारा घोटाला के आरोपी. खुद फंसे तो पत्नी को सीएम बना गए. कहते हैं इनकी बेटी की शादी हुई थी तो शोरूम से गाड़ियां उठवा ली गई थीं.

अब फिर से ख़बरों में है इनका परिवार. लेकिन किसी और वजह से.

लालू यादव के बड़े बेटे तेज प्रताप ने अपनी पत्नी ऐश्वर्या से तलाक लेने की अर्जी लगाई है. मामला अदालत में चल रहा है. ऐश्वर्या के दादाजी दरोगा राय बिहार के मुख्यमंत्री रह चुके थे. जब से ये पूरा मुआमला हुआ है, तब से तेज प्रताप परिवार से अलग रह रहे हैं. कभी गाएं चराते दिखाई देते हैं, कभी कृष्ण बनते. इस वजह से भी मीडिया की नजर उन पर बनी हुई है. तेजस्वी, लालू के छोटे बेटे हैं. वो पॉलिटिक्स में आ गए हैं, तो उन पर खबरें आती रहती हैं. लेकिन इस बार का ड्रामा कुछ ज्यादा ही अजीब हो गया है.

lalu-fam-pti_750x500_030719045946.jpgतस्वीर: पीटीआई

ड्रामा खडा करने वाले हैं ददन यादव. पहले पहलवान थे. राबड़ी सरकार में राज्यमंत्री रह चुके हैं. समय बदला, समय के साथ इनकी पार्टी बदली. अभी डुमरांव नाम की जगह से जनता दल यूनाइटेड (जदयू या JDU) पार्टी के विधायक हैं. ये नीतीश कुमार की पार्टी है. ख़बरों के मुताबिक़ ददन पहलवान ने तेज प्रताप और ऐश्वर्या के मसले को उठाया. हाईलाईट किया कि दोनों के बीच तलाक की बात चल रही है. ऐसे में ये ऐश्वर्या को छोड़ देने वाली बात होगी. कहा कि बिहार में यादवों की परंपरा रही है कि ऐसी परिस्थितियों में अपने दूसरे बेटे से शादी करा दी जाती है, ऐसे में लालू यादव को अपने दूसरे बेटे से उस प्रतिष्ठित परिवार की बेटी की इज्जत बचाने के लिए जल्द से जल्द तेजस्वी से शादी का कदम उठाना होगा.

ददन पहलवान का कहना है कि अगर बड़े भाई से शादी नहीं चली तो छोटे भाई से शादी करा दो. इस पूरे मसले में ऐश्वर्या का क्या कहना है, या उनकी क्या सोच है, या उनका अपना क्या स्टैंड है इससे किसी को कोई फर्क नहीं पड़ता.

aishwarya-rai-yadav_750x500_030719050029.jpgपरिवार की बहू होने का टैग ऐश्वर्या के अपने अस्तित्व से भी इतना बड़ा है कि उसकी वजह से उनकी ज़िन्दगी तय हो?

हम आपके हैं कौन फिल्म से इंस्पायर लगती ये कहानी शायद किसी को सुनने में फनी लग सकती है. लेकिन मजाक से इसका दूर-दूर तक कोई वास्ता नहीं है. अभी हाल में ही एक मामला सामने आया था जहां पुलवामा हमले में शहीद हुए सिपाही की पत्नी की शादी जबरदस्ती उसके देवर से करवाई जा रही थी ताकि मुआवजे का पैसा घर में रह जाए. कहीं और ना जाए. वो तो भला हो कि औरत पुलिस के पास पहुंच गई और मामला सामने आ गया.  

dadan-yadav-2_750x500_030719050126.jpgददन यादव ने ये कहकर सिर्फ और सिर्फ अपनी छिछली मानसिकता दिखाई है, और कुछ नहीं

तथाकथित ‘यादवी परंपराओं’ का हवाला देते हुए ददन यादव ने ऐश्वर्या को टेबल कुर्सी की माफिक एक चीज़ बना दिया है. बड़ा भाई इस्तेमाल नहीं कर रहा, तो छोटे भाई से कहो वो इस्तेमाल कर ले. परिवार या सत्ता में दांव पर औरतों का लगना कोई नया नहीं है. गालियों में भी औरतों की सेक्सुअलिटी और उनके शरीर पर तंज या वार होता है. यहां ददन यादव की भाषा में ऐश्वर्या के लिए चिंता की आड़ में तेज प्रताप और तेजस्वी के ऊपर चोट करने की कोशिश साफ़ दिख रही है.

दिल तोड़ देने वाली बात तो ये है कि इसे इतना नॉर्मल मान लिया गया है कि इस पर किसी को कोई आपत्ति भी नहीं होती.

 

 

लगातार ऑडनारी खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करे      

Copyright © 2019 Living Media India Limited. For reprint rights: Syndications Today. India Today Group