क्या करें, जब बैंक अकाउंट या ATM कार्ड के बंद होने का फोन आए

जालसाज ज्यादातर महिलाओं और बुजुर्गों को अपना निशाना बनाते हैं.

आपके पास एक अनजान नंबर से कॉल आता है. उस तरफ से आवाज आती है, “मैं फलां-फलां बैंक से बोल रहा हूं, आपका अकाउंट बंद होने वाला है, अगर आप चाहती हैं कि आपका अकाउंट बंद न हो और आपको कोई दिक्कत न हो, तो अभी अपना अकाउंट नंबर, एटीएम कार्ड का नंबर उसका पिन बता दें.”

आप ऐसे में क्या करेंगी? क्या बैंक संबंधित सारी डिटेल दे देंगी?

अगर आप ऐसा करती हैं, तो हो सकता है कि बैंक के नाम पर जालसाजी की शिकार हो जाएं. और आपका बैंक अकाउंट खाली हो जाए. इस समय ऐसे कई गैंग और लोग एक्टिव हैं, जो बैंक के नाम पर लोगों के साथ धोखाधड़ी कर रहे हैं.

आपको बता दें कि जालसाज ज्यादातर महिलाओं और बुजुर्गों को अपना निशाना बनाते हैं. उन्हें बैंक अकाउंट बंद होने या एटीएम कार्ड ब्लॉक होने जैसी बातों से डराकर डिटेल मांग लेते हैं.

हमने इस बारे में एसबीआई (भारतीय स्टेट बैंक) की जबलपुर ब्रांच के असिस्टेंट मैनेजर से बात की.

उन्होंने हमें बताया कि न तो बैंक और न ही बैंक के अधिकारी, एसएमएस, ई-मेल या कॉल करके ग्राहक से उसके बैंक खाते से संबंधित कोई जानकारी मांगते हैं. इसीलिए अगर ऐसी कोई भी जानकारी आपसे मांगी जाती है, तो कतई न दें.

-उन्होंने बताया कि कॉल के अलावा एसएमएस के जरिये भी लोगों को ठगा जाता है. एसएमएस में डेबिट कार्ड, क्रेडिट कार्ड, ई-मेल, आधार नंबर मांगा जाता है. फ्रॉड करने वाले जानते हैं कि एसएमएस देखकर लोग जल्दी यकीन कर लेते है कि बैंक ने जानकारी मांगी है. और धोखे का शिकार हो जाते हैं.

-कई बार मेल के जरिये ठगी की जाती है. मेल में एक फॉर्म अटैच होता है, जिसे भरकर देने के लिए कहा जाता है.

-ज्यादातर महिलाएं खुद की डेट ऑफ बर्थ, एनिवर्सरी डेट या फोन नंबर को ही पासवर्ड बना लेती हैं. ऐसा नहीं करना चाहिए. किसी के लिए भी पासवर्ड के नाम पर इनका अंदाजा लगाना बेहद आसान होता है. ऐसा करके आप धोखाधड़ी करने वाले को खुद मौका दे रही हैं.

-अपने बैंक डिटेल जैसे अकाउंट नंबर, एटीएम कार्ड की जानकारी किसी दुकानदार, सेल्समेन को न बताएं. चाहे दुकानदार आपकी पहचान का ही क्यों न हो.

धोखाधड़ी की शिकार होने पर क्या करें

अगर गलती से आप इस तरह की धोखाधड़ी की शिकार हो भी गई हैं, तो घबराएं नहीं और बैंक और पुलिस को तुरंत बताएं. अगर बैंक घर से दूर है, तो बैंक की वेबसाइट पर मौजूद नंबरों के जरिए बैंक को भी इस बारे में बता सकती हैं.

खाते के साथ SMS अलर्ट की सुविधा जोड़ें

ध्यान रखें कि अपने खाते के साथ एसएमएस अलर्ट की सुविधा जोड़ें. इस सुविधा में आपके खाते में कोई भी ट्रांजेक्शन होता है, जैसे पैसा जमा हुआ, या पैसा निकाला गया, आपको मैसेज के जरिये उसकी जानकारी मिल जाएगी.

ये भी पढ़ें- इस लड़की ने औरतों की वोटिंग पर जो बात कही है वो बेहद कड़वी है, लेकिन सोलह आने सच है

 

लगातार ऑडनारी खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करे      

Copyright © 2019 Living Media India Limited. For reprint rights: Syndications Today. India Today Group