पाकिस्तान के इस प्रांत में एक-एक कर 15 गायिकाओं और डांसरों की हत्या कर दी गई

ये इसी साल हुआ है और पता नहीं कब रुकेगा.

पाकिस्तान में औरतों की जान ली जा रही है. ये एक खबर नहीं होनी चाहिए. मगर है. एक-एक करके अभी तक खैबर पखतुन्ख्वा में 15 औरतों पर हमले किये जा चुके हैं, जिनमें से कई हमले जानलेवा भी थे.

सबसे हालिया खबर है एक्ट्रेस और सिंगर रेशमा की हत्या का. तथाकथित रूप से घरेलू मामले की वजह से उसके पति ने घर में घुसकर उसपर गोलियां दाग दीं. रेशमा अपने पश्तो गानों के लिए मशहूर थीं.

अब रेशमा और उसके पति के बीच क्या हुआ, इसके बारे में कोई पक्की खबर नहीं है. उनके बीच किस बात को लेकर तनाव था, ये कहने की स्थिति में कोई नहीं है. हो सकता है ये सिर्फ मियां बीवी के बीच की बात हो. या फिर इस बात से इनकार भी नहीं किया जा सकता कि रेशमा के करियर को लेकर दोनों के बीच मतभेद हुआ हो और इसका नतीजा ये निकला हो.

रेशमा की हत्या अपने आप में इकलौत मामला नहीं है. फोटो: विकिमीडिया रेशमा की हत्या अपने आप में इकलौत मामला नहीं है. फोटो: विकिमीडिया

पाकिस्तान का खैबर पखतुन्ख्वा इलाका मुख्यतया पश्तो भाषा बोलने वालों का है. ये इलाका तालिबान के कब्ज़े में भी है. तालिबान के मुताबिक़ गाना-बजाना इस्लाम में हराम है. ख़ास तौर पर उनकी टारगेट औरतें होती हैं जो गाती या परफॉर्म करती हैं.

कई ऐसे मुद्दे पारिवारिक झगड़े के नाम पर दबा दिए जाते हैं या फिर ये कह दिया जाता है कि ये निजी मामला था जिसकी दुश्मनी निकाली गई. लेकिन इन सभी औरतों में से अधिकतर का आर्टिस्ट/सिंगर/परफ़ॉर्मर होना इस बात की तरफ इशारा करता है कि उनकी हत्या या उन पर हो रहे हमलों के पीछे की वजह कहीं न कहीं उनके पेशे से ज़रूर जुड़ी है.

गुलनाज़ नाम की आर्टिस्ट जिसका स्टेज का नाम मुस्कान था, उसे उसी के घर में घुस कर गोली मार दी गई.

मिंगोरा शहर में रहने वाली शबनम, जो एक डांसर थी, उसे उसके घर से बाहर खींच कर निकाला गया और बीच सड़क गोली मार दी गई. उसकी लाश को शहर के चौराहे पर उसकी परफॉरमेंसेज की सीडी और नोटों के साथ फेंक दिया गया. तालिबान ने खुल्लम-खुल्ला इस अटैक की ज़िम्मेदारी ली.

सिंगर और गीतकार ऐमान उदास को उनके घर में घुस कर मार दिया गया. पुलिस ने शक उनके भाइयों पर जताया जो उनके गाने और लिखने के खिलाफ थे. लेकिन कोई केस दर्ज नहीं हुआ.

पेशावर की ग़ज़ाला जावेद एक पार्लर से निकल घर लौट रही थीं. उनके साथ उनके पिता भी थे. उनकी गोली मार कर हत्या कर दी गई. ग़ज़ाला काफी ज्यादा पॉपुलर थीं और पूरी दुनिया में पश्तो बोलने वाले उनकी गायकी के फैन थे.

ग़ज़ाला की हत्या से पूरा पाकिस्तान दहल गया था. फोटो: विकिमीडिया ग़ज़ाला की हत्या से पूरा पाकिस्तान दहल गया था. फोटो: विकिमीडिया

नाजिया इकबाल नाम की सिंगर ने अचानक से ये अनाउंस किया कि वो अपना करियर छोड़ कर अपने इस्लाम धर्म पर फोकस करना चाहती हैं. इससे उनके फैन्स को गहरा झटका लगा. उन्होंने बाद मेंन गाना फिर से शुरू किया, और बताया कि तालिबान ने उनके बच्चों को नुकसान पहुंचाने की धमकी दी थी. इसलिए उनको अपनी गायकी छोड़नी पड़ी थी.

नाज़िया ने हाल में अपने भाई पर अपनी बेटियों के यौन शोषण का आरोप लगाया है. फोटो: विकिमीडिया नाज़िया ने हाल में अपने भाई पर अपनी बेटियों के यौन शोषण का आरोप लगाया है. फोटो: विकिमीडिया

इन सभी मामलों से ज्यादा अटेंशन बटोरी कंदील बलोच की हत्या ने. वो पाकिस्तानी सोशल मीडिया स्टार थी. फेसबुक पर उसके विडियो देखने वालों में भारत के लोग भी शामिल थे. कंदील अपने परिवार की इकलौती कमाने वाली थी. उसी के भाई ने उसकी हत्या कर दी क्योंकि उसे लगता था कि कंदील खानदान का नाम डुबा रही है ये हरकतें कर के.

कंदील की मौत ने सोशल मीडिया को पाकिस्तान में हो रही ज्यादतियों के रूबरू कर दिया. फोटो: Getty Images कंदील की मौत ने सोशल मीडिया को पाकिस्तान में हो रही ज्यादतियों के रूबरू कर दिया. फोटो: Getty Images
    

ऐसे मामले कई हैं, जिनके बारे में जानकारी मिल नहीं पाती, या रिपोर्ट दर्ज नहीं होती. पाकिस्तान में तालिबान के फतवों और इस तरह के आदेशों ने वहां पर कलाकारों के ऊपर काफी खतरा बना रखा है. हर साल इस तरह की खबरें आती हैं, और महज वही बनकर रह जाती हैं. बात बात पर पाकिस्तान से तुलना का हवाला देने वाले एक बार आंख खोल के ये भी देख लें कि जिस देश ने अपने भीतर धर्म को बेरोकटोक फैलने दिया है, वहां के बाशिंदों का क्या हाल है.

 

ऑडनारी से चिट्ठी पाने के लिए अपना ईमेल आईडी बताएं!

ऑडनारी से चिट्ठी पाने के लिए अपना ईमेल आईडी बताएं!

लगातार ऑडनारी खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करे      

Copyright © 2018 Living Media India Limited. For reprint rights: Syndications Today.