गुल पनाग: हीरोइन-मॉडल से बढ़कर एक बाइकर, पायलेट और राजनेता भी हैं

आज इनका जन्मदिन है

आपात प्रज्ञा आपात प्रज्ञा
जनवरी 03, 2019
गुल पनाग समाजिक कार्यकर्ता भी हैं. फोटो क्रेडिट- इंस्टाग्राम/गुल पनाग

'एक लड़की क्या ही कर लेगी?'

ये वो सवाल है जिससे हम सब लड़कियां कभी-न-कभी दो-चार होती ही हैं. हमारे आस-पास हज़ारों ऐसी लड़कियां हैं जो इस सवाल का जवाब बोल कर दें या नहीं, अपने काम से ज़रूर देती हैं. ऐसी ही एक लड़की हैं 'गुल पनाग'. 3 जनवरी 1979 को पैदा हुईं गुल, एक एक्ट्रेस, मॉडल, राजनेता, पायलेट, ट्रेवलर, एक्टिविस्ट, बाइकर तो हैं ही. वो ब्यूटी क्वीन भी रह चुकी हैं. उनके जन्मदिन पर बात करते हैं कई प्रतिभाओं की धनी गुल पनाग के जीवन के बारे में.

'विमंस वेब' को दिए इंटरव्यू में गुल कहती हैं-

'इंसान होने का ये बेसिक फेक्ट है कि आप कई प्रतिभाओं के धनी होंगे.'

उन्होंने ये न सिर्फ कहा है बल्कि इसे जिया है. वो सिर्फ एक्टिंग और मॉडलिंग तक सीमित नहीं रहीं. उन्होंने अपने जीवन में वो सबकुछ किया जो वो करना चाहती थीं. एक महिला अभियान के तहत वो 2257 किमी का सफर तय कर बाइक से लद्दाख गईं थीं. ये सफर उन्होंने 13 दिनों में पूरा किया था. इस ही इंटरव्यू में वो बताती हैं कि उन्हें शहर से बाहर जाकर शांति का जीवन जीना बहुत पसंद है. वो कहती हैं-

'शहर से बाहर जाकर, किसी रिमोट एरिया में, जहां आप सोशल मीडिया से कनेक्टेड नहीं होते हो तो आप खुद को जान पाते हो.'

dj9sfy6wwaalghi_010319025509.jpgगुल पनाग एक बेहतरीन बाइकर हैं. फोटो क्रेडिट- इंस्टाग्राम/गुल पनाग

गुल 30 से भी ज़्यादा देशों का भ्रमण कर चुकी हैं. गुल के घूमने के प्रति इतने समर्पण का फल ये हुआ कि 2011 में फिनलैंड की सरकार ने 'विसिट फिनलैंड' प्रोग्राम के तहत गुल को टूरिस्म एम्बेसडर बनाया.

घूमने के साथ-साथ गुल को फिट रहना भी पसंद है. वो फिटनेस फ्रीक हैं और गाहे-बगाहे अपनी एक्सरसाइज़ की तस्वीरें और वीडियो सोशल मीडिया पर शेयर करती रहती हैं.

 
 
 
View this post on Instagram
 
 

Nothing worth having is easy. Whether it’s fitness or a good relationship -being a good parent, wife, daughter, friend. It takes commitment, accountability , perseverance and discipline. It means sometimes doing things one doesn’t want to do. More often than not, it’s about battling our inner inertia, our basal instincts . Most importantly, it’s all a journey. There’s no destination. There’s nothing like perfect fitness, a perfect relationship, a perfect job that allows us to sit back and take things for granted. Every time I do public challenge, and this is my 4th, 2nd time with internet friends, it reinforces the fact that every day is a challenge we must rise up to. Things will always be hard, but if we take them as a challenge , our mindset changes from making excuses to finding solutions. I find, that with the hectic pace of life we lead, I'm often stressed. Taking a moment out to reflect on all I have to be grateful for, immediately changes my outlook. This challenge is about being mindful. The idea is to take out time to write everything we eat ( yes, you'll be surprised how quickly we become accountable to ourselves about what we're putting inside us), write out what 40 minute exercise we did and write out three things we are grateful for. Everyday. For 30 days. #30daychallenge #committment #accountability

A post shared by Gul Panag (@gulpanag) on

सोशल मीडिय पर एक्टिव होने के बावजूद गुल ने अपने बेटे को 6 महीने तक सबसे छुपा कर रखा था. साल 2018 में 39 साल की उम्र में वो मां बनीं. इस खबर को उन्होंने 6 महीने बाद एक इंटरव्यू में बताया.

untitled-2_010319025601.jpgगुल अपने पति ऋषि और बेटे निहाल के साथ. फोटो क्रेडिट- इंस्टाग्राम

इससे सात साल पहले 13 मार्च 2011 को उन्होंने अपने बचपन के दोस्त ऋषि अत्री से शादी की थी. ये शादी भी उनके अलग अंदाज़ की तरह सबसे अलग थी. शादी में सभी लोग रॉयल इंफील्ड बाइक पर सवार होकर आए थे. यहां तक की दूल्हा-दुल्हन भी बाइक पर ही आए थे.

इससे पहले साल 1999 में गुल मिस इंडिया और मिस ब्यूटीफुल बनी थीं. उन्होंने मिस यूनिवर्स में भी भाग लिया था. इसके बाद कई विज्ञापनों में काम किया. 'डोर' और 'मनोरमा 6 फीट अंडर' जैसी फिल्मों में काम किया.

ds25-bpw0aeyom1_750x500_010319025635.jpgएक पब्लिसिटी इवेंट के दौरान गुल. फोटो क्रेडिट- इंस्टाग्राम/गुल पनाग

गुल पनाग ने गणित विषय में ग्रेजुएशन किया है. इसके बाद वो एमबीए करना चाहती थीं पर ब्यूटी कॉन्टेस्ट में भाग लेने के बाद वो बॉलीवुड में आ गईं. ये बहुत ही कम लोग जानते हैं कि गुल, एश्वर्या राय को प्रेरणा स्त्रोत के रूप में देखती हैं.

गुल पनाग ने आप पार्टी से चुनाव भी लड़ा है. अपने होमटाउन चंडीगढ़ से उन्होंने चुनाव लड़ा था. पनाग के पिता ने भी आम आदमी पार्टी जॉइन की थी. एक मशहूर वेबसाइट से बात करते हुए वो बताती हैं कि राजनीति को अच्छा बनाने के लिए आपको उसका हिस्सा होना पड़ेगा. वो कहती हैं-

'मैं बाहर तटस्थ बैठ कर तमाशा नहीं देख सकती. देश में बदलाव करने के लिए आपको राजनीति के दंगल का हिस्सा होना पड़ेगा. अगर आपको लगता है कि आप बदलाव कर सकते हैं तो आप ज़रूर बदलाव कर सकते हैं.'

गुल पनाग की बात से हम भी सहमत हैं. महिलाओं की बनी-बनाई छवि को बदलने में गुल ने निश्चित तौर पर एक महत्वपूर्ण भूमिका निभाई है.

 

लगातार ऑडनारी खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करे      

Copyright © 2019 Living Media India Limited. For reprint rights: Syndications Today. India Today Group