सुनो! कर सकते हो तो एक वादा करो कि उस नए रिश्ते में ईमानदार रहोगे

याद रखो, तुम दो नावों पर पैर नहीं रख सकते.

नेहा कश्यप नेहा कश्यप
अप्रैल 29, 2019

''मेरा होना तुमसे था. मेरी जिंदगी तुमसे थी. मैं जिंदगी नए सिरे से जीने की कोशिश कर रही हूं. लेकिन तुम हमेशा उसका हिस्सा रहोगे.''

तुमने कह दिया. हम शादी नहीं कर सकते. क्योंकि हम अलग जातियों से हैं. परिवार वाले नहीं मान रहे हैं. मैंने कभी नहीं सोचा था कि हमारा रिश्ता ऐसे खत्म होगा.

आठ साल पहले मैं तुमसे मिली थी. आठ साल. बहुत लंबा टाइम होता है न. कॉलेज में तुम डिपार्टमेंट के बाहर अक्सर नजर आते थे. अपने दोस्तों के साथ. वहीं तुमसे पहली बार मिली थी. इन आठ सालों में कितना घूमे हैं हम साथ में हम. काश की जिंदगी यूं ही चलती रहती.

holding-hands-1149411_960_720-750x500_042919043056.jpg

खैर, अब तुम सब खत्म करना चाहते ही हो, तो मेरे कुछ सवाल हैं तुम्हारे लिए. उनका जवाब दे दो.

क्या तुम्हें अचानक पता चला कि मेरी जाति अलग है. आठ सालों में तुम्हें इस बात का बिल्कुल अंदाज नहीं था कि मैं किस जाति से हूं. तुमने शादी की बात टाली. कहा, जब सही टाइम आएगा, हो जाएगी. सही टाइम नहीं आया. शायद तुम वो सही टाइम लाना ही नहीं चाहते थे.

तुमने कहा पापा शादी के खिलाफ हैं. तुम उनके खिलाफ नहीं जा सकते. लेकिन तुम तो ये भी कहते थे कि मेरी खुशी तुम्हारे लिए सबसे जरूरी है.

मैं आज बिल्कुल खुश नहीं हूं. तुम उस दुख की वजह हो. तुम्हारा प्यार उस दुख की वजह है.

तुमने कहा कि घरवाले तुम्हारी शादी कहीं और करना चाहते हैं. तुम दबाव में शादी कर रहे हो, लेकिन मेरी जगह कोई नहीं ले सकेगा. ये कहकर तुम उस लड़की का हाथ तो थाम रहे हो, लेकिन मुझे भी आगे बढ़ने से रोक रहे हो.

digital-art-398342_960_720-750x500_042919043143.jpg

याद रखो, तुम दो नावों पर पैर नहीं रख सकते. कि मुझसे प्यार करते रहो और घरवालों के दबाव में उससे शादी कर लो. उसका हाथ थामने के लिए तुम्हें मेरा हाथ पूरी तरह छोड़ना होगा. वो इन सबसे बिल्कुल अनजान है, उसे धोखा मत देना.

मैं तुमसे कितना भी प्यार कर लूं. लेकिन तुम मेरे लिए खड़े नहीं हो सके. इसलिए अब मैं तुम्हारे साथ अपना आने वाला कल नहीं देखती. लेकिन ये बताना चाहती हूं कि सही टाइम के इंतजार में, हमारे प्यार के लिए स्टैंड नहीं लेकर तुम दो जिंदगियां पहले ही बर्बाद कर चुके हो. और अब तीसरी जिंदगी बर्बाद करने की तैयारी कर रहे हो.

मैं उसे नहीं जानती. लेकिन मैं नहीं चाहती कि तुम उसके साथ कुछ गलत करो. उसे धोखा दो. उसे सम्मान और प्यार पाने का पूरा हक है.

तुम कहते थे कि मेरा साथ दोगे. हमेशा. लेकिन मैं ऐसे रिश्ते में नहीं रह सकती जहां मुझे तुम्हें किसी के साथ बांटना पड़े. तुम चोरों की तरह मुझसे मिलो और जिसमें तुमपर मेरा पूरा हक न हो. मुश्किल है, पर मैं ये साथ छोड़ रही हूं.

सुनो, कर सकते हो तो मुझसे एक वादा करो. कि उस नए रिश्ते में ईमानदार रहोगे.

 

लगातार ऑडनारी खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करे      

Copyright © 2019 Living Media India Limited. For reprint rights: Syndications Today. India Today Group